Home » Education News » Corona Impact: UP Board reduced 30 percent syllabus of 9th to 12th class
 

यूपी बोर्ड ने 9वें से 12वींं तक का 30 फीसदी कोर्स किया कम, बाकी कोर्स तीन भागों में किया जाएगा पूरा

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 July 2020, 8:59 IST

UP Board reduced 9th to 12th class syllabus: कोरोना वायरस महामारी (Corona Virus Pandemic) के चलते देशभर में मार्च के आखिरी सप्ताह से ही स्कूल-कॉलेज (School-Collage) और यूनिवर्सिटी (University) बंद हैं. हालांकि, कुछ स्कूल-कॉलेजों ने ऑनलाइन पढ़ाई शुरु कर दी है. लेकिन कुछ शिक्षा बोर्ड अभी तक पढ़ाई शुरु नहीं कर पाए हैं. इनमें उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के स्कूल भी शामिल हैं. यूपी बोर्ड के स्कूल अभी तक नहीं खुले हैं और आने वाले कुछ दिनों में खुलने की उम्मीद भी बहुत कम है. ऐसे में उत्तर प्रदेश बोर्ड ने स्टूडेंट्स का पढ़ाई का बोझ कम करने का फैसला लिया. जिसके लिए यूपी बोर्ड ने नौवीं क्लास से 12वीं तक के सिलेबस में 30 फीसदी की कटौरी कर दी है.

शासन के आदेश के बाद पहले के मुकाबले बचा हुआ 70 फीसदी पाठ्यक्रम तीन भाग में पढ़ाया जाएगा. बता दें कि नियमित कक्षाएं शुरू ने होने की वजह से माध्यमिक शिक्षा परिषद ने शासन के पास पाठ्यक्रम कम करने का प्रस्ताव भेजा था. उस प्रस्ताव पर शासन ने अपनी मुहर लगा दी है. गौरतलब है कि कोरोना महामारी की वजह से शैक्षिक सत्र 2020-21 में अभी तक स्कूलों में कक्षाओं का संचालन शुरू नहीं हो पाया है. हालांकि, शासन ने 15 जुलाई से ऑनलाइन कक्षाएं संचालित करने का आदेश दे रखा हैं.


RCFL में इन पदों पर निकली बंपर वैकेंसी, आवेदन करने की तारीख नजदीक

लेकिन कॉलेज के साथ काफी विद्यार्थी ऐसे हैं जो संसाधनों के अभाव में ऑनलाइन पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं. इसे देखते हुए यूपी बोर्ड पाठ्यक्रम कम करने पर मंथन कर रहा था. उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने बताया कि शेष 70 प्रतिशत पाठ्यक्रम को तीन भागों में बांटकर पूरा कराया जाएगा. पहले भाग में पाठ्यक्रम का वह भाग लिया जाएगा जिसे कक्षावार, विषयवार और अध्यायवार वीडियो बनाकर ऑनलाइन पढ़ाया गया है. उनको स्वयंप्रभा चैनल व डीडी यूपी से भी प्रसारित किया गया है.

जम्मू-कश्मीर डाक विभाग में निकली नौकरी, दसवीं पास हैं तो जल्द करें आवेदन

वहीं दूसरे भाग में उस पाठ्यक्रम को शामिल किया जाएगा, जिसे विद्यार्थी स्वयं पढ़कर पूरा कर सकते हैं. इसके अलावा तीसरे और आखिरी भाग वह पाठ्यक्रम होगा जिसे प्रोजेक्ट के जरिये पूरा कराया जा सकता है. ऐसा माना जा रहा है कि पाठ्यक्रम कम होने से यूपी बोर्ड के 1 करोड़ 10 लाख से अधिक विद्यार्थियों को राहत मिलेगी.

ITBP में कांस्टेबल समेत इन पदों पर निकली वैकेंसी, ये है आवेदन का तरीका

यहां निकली बारहवीं पास के लिए वैकेंसी, जानिए आवेदन का तरीका और आखिरी तारीख

सूबे के उप-मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री डॉ. दिनेश शर्मा का कहना है कि विषय विशेषज्ञों द्वारा शैक्षिक पंचांग के अनुसार माहवार वार्षिक एकेडमिक कैलेंडर बनाया जाएगा. इसके अनुसार पढ़ाई व मूल्यांकन की विद्यालय, जिला, मंडल और राज्यवार मॉनिटरिंग की जाएगी. इसके लिए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर भी तैयार किया जाएगा. विषय विशेषज्ञों से कक्षावार, अध्यायवार और विषयवार प्रश्न बैंक तैयार कराकर माध्यमिक शिक्षा परिषद की वेबसाइट पर अपलोड किया जाएगा. उसका मासिक, त्रैमासिक और वार्षिक मूल्यांकन किया जाएगा.

CRPF में नौकरी करने का शानदार मौका, SI, ASI और कांस्टेबल के पदों पर निकली बंपर भर्ती

First published: 16 July 2020, 9:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी