Home » Education News » HRD Ministry may roll back decision on NEET conducted online and twice a year
 

NEET परीक्षा ऑनलाइन कराने के फैसले को वापस ले सकती है केंद्र सरकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 August 2018, 11:15 IST

मेडिकल में एडमिशन के लिए NEET (नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट) 2019 से साल में दो बार और ऑनलाइन आयोजित करने के निर्णय को सरकार वापस ले सकती है. NEET परीक्षा से जो देशभर के मेडिकल संस्थानों में मेडिकल कोर्सेस में एडमिशन दी जाती है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक साल 201 9 तक यह परीक्षा वार्षिक पेन-एंड-पेपर आधारित टेस्ट के रूप में जारी रहेगा. अगले वर्ष भी परीक्षा का आयोजन CBSE के द्वारा ही की जाएगी न कि राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी या एनटीए द्वारा.

ग्रामीण और आर्थिक रूप से गरीब छात्रों को ऑनलाइन परीक्षा से नुकसान होगा क्योंकि ज्यादातर ग्रामीण इलाके के स्टूडेंट्स ऑनलाइन / कंप्यूटर परीक्षा से घबराते हैं जिसका सीधा असर उनके स्कोर पर पड़ेगा.

गौरतलब है कि 6 जुलाई को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए मानव संसाधन विकास (HRD) मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने घोषणा की थी कि नवनिर्मित एनटीए अब राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षाएं आयोजित करेगी और अगले साल, 2019 से NEET, UGC NET और CMAT की परीक्षा अब सिर्फ कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट (CBT) आधारित होगी.

इन परीक्षाओं को आयोजित करने के लिए नव गठित एजेंसी, नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) को यह निर्देश दिया गया है कि परीक्षाएं अब कई अलग- अलग तारीखों में आयोजित किये जाएं.

First published: 10 August 2018, 11:15 IST
 
अगली कहानी