Home » Education News » JEE Advance result 2018: Anand kumar's Super 30 coaching again waved, 26 students crack the IIT entrance examination
 

JEE Advanced: इस बार आनंद कुमार के 'सुपर-30' से इतने बच्चों ने किया IIT पास

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 June 2018, 15:41 IST
anand kumar

JEE Advanced Result 2018: IIT प्रवेश परीक्षा की तैयारी कराने के लिए चर्चित पटना स्थित संस्थान सुपर-30 ने इस साल IIT JEE की परीक्षा में एकबार फिर सफलता का परचम लहराया है. इस साल  सुपर-30 के 26 स्टूडेंट्स ने इस एग्जाम को क्रैक किया और IIT में अपनी सीट पक्की कर ली.

जेईई रिजल्ट जारी होने के बाद सुपर 30 के संस्थापक और विश्व विख्यात गणितज्ञ आनंद कुमार ने कहा है कि अब सुपर-30 का आकार और भी बड़ा किया जाएगा ताकि ज्यादा संख्या में मेधावी छात्रों को IIT के लिए तैयार किया जा सके. उम्मीदवार अपना रिजल्ट ऑफिशियल वेबसाइट jeeadv.ac.in पर चेक कर सकते हैं.

JEE के नतीजे घोषित होने पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए आनंद कुमार ने कहा कि यह छात्रों की निरंतर मेहनत का नतीजा है कि उन्होंने आईआईटी प्रवेश परीक्षा में सफलता हासिल की है. उन्होंने कहा, 'सफल छात्रों में शामिल बच्चे समाज के उस अंतिम पायदन पर खड़े थे जहां विकास और चमकदमक की पहुंच नहीं है. घोर अभाव गरीबी और पिछड़ेपन में रहे इन बच्चों की सफलता बेहद महत्वपूर्ण और रोमांचित करने वाली है.

ये भी पढ़ें - JEE Advanced 2018: इस दिन से शुरू होगी काउंसलिंग, जानें ये जरूरी बातें

इस संस्थान की खूबियों के कारण 'सुपर 30' पर एक फिल्म भी बन रही है, जिसमें अभिनेता ऋतिक रोशन गणितज्ञ और संस्थान के संस्थापक आनंद कुमार की भूमिका निभा रहे हैं. यह फिल्म 25 जनवरी 2019 को रिलीज की जाएगी.

इसके आगे उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि सुपर-30 के आकार को बड़ा किया जाए. सुपर-30 में छात्रों का चयन करने के लिए देश के अलग-अलग हिस्सों में इसके लिए जल्दी ही एक जांच परीक्षा आयोजित करेंगे जिसकी जानकारी वेबसाइट पर दी जाएगी. गौरतलब है कि सुपर-30 पिछले 16 सालों से छात्रों को IIT JEE परीक्षा की तैयारी करा रहा है. अब तक इस कोचिंग संस्थान से 400 से ज्यादा स्टूडेंट्स ने आईआईटी की प्रवेश परीक्षा में सफलता प्राप्त की है.

उल्लेखनीय है कि यह संस्थान गरीब परिवारों के 30 बच्चों का सेलेक्शन करता है और उन्हें कोचिंग से लेकर खाने-पीने और रहने की सुविधा देता है ताकि वे अपना ध्यान केवल पढ़ाई में केंद्रित कर सकें. आनंद कुमार यह कार्य मिशन-मोड में करते हैं और इसमें पूरा परिवार उनका साथ देता है. उनकी मां घर में सभी 30 बच्चों के लिए खुद खाना बनाती हैं जबकि आनंद कुमार और उनके भाई छात्रों को आईआईटी की तैयारी करवाते हैं. इस कार्य के लिए आनंद देश-विदेश में ख्याति प्राप्त कर चुके हैं.

First published: 10 June 2018, 15:41 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी