Home » Education News » Mukesh Ambani's Jio Institute hasn't been given Eminence status, HRD minister Javadekar said in Rajya Sabha
 

राज्यसभा में Jio इंस्टिट्यूट पर बोले जावड़ेकर- नहीं मिला प्रतिष्ठित संस्थान का दर्जा और फंड

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 July 2018, 17:49 IST

मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि अभी जियो इंस्टीट्यूट को प्रतिष्ठा / उत्कृष्ट संस्थान (Eminence status) का दर्जा नहीं दिया गया है. केवल मंशा प्रपत्र (A Letter of Intent) जारी किया गया है.उत्कृष्ट संस्थान के लिए केंद्र सरकार द्वारा आवंटित 1,000 करोड़ केवल सार्वजनिक विश्वविद्यालयों (public universities) को ही प्रदान किए जाएंगे.जियो इंस्टिट्यूट को या अन्य निजी संस्थानों को सरकारी फंड नहीं दिए जाएंगे.

ये भी पढ़ें-500 रुपये के निवेश वाली वो तीन स्कीम, जिनसे आप बन सकते हैं अमीर

जावड़ेकर ने गुरुवार को राज्यसभा में एआईएडीएमके के सांसद एसआर विजयकुमार के एक प्रश्न का जबाब देने के क्रम में ये बातें कही. हालांकि एआईएडीएमके सदस्य ने कहा कि इस मामले पर श्वेत पत्र लेन की तैयारी में हैं क्योंकि इसपर कोई जमीनी स्तर का कार्य प्रारंभ नहीं किया गया है.

एचआरडी मिनिस्टर जावड़ेकर ने कहा एन गोपालस्वामी की अध्यक्षता में एक समिति की स्थापना की गई थी. इस समिति ने भारतीय विश्वविद्यालयों को विश्वस्तरीय बनाने और दुनियां की टॉप यूनिवर्सिटीज के बराबर लाने के लिए सुझाव दिए हैं. जावड़ेकर के कहा कि किसी भी भारतीय विश्वविद्यालय ने वर्ल्ड की टॉप 100 यूनिवर्सिटी की सूची में जगह नहीं बनाया है. इसलिए हम पहले चरण में 10 यूनिवर्सिटी की स्थितियों में सुधार करना चाहते हैं और भविष्य में अधिक विश्वविद्यालयों को जोड़ा जाएगा.

IISC बंगलोर, IIT दिल्ली, IIT-बॉम्बे, बिड़ला इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी (BITS) और मणिपाल उच्च शिक्षा अकादमी के साथ प्रतिष्ठा / उत्कृष्ट संस्थान (IoE) की मान्यता प्राप्त करने वाला जियो इंस्टीट्यूट एकमात्र ग्रीनफील्ड संस्थान है जो अभी तक पेपर पर है. यह उम्मीद जताई जा रही है कि अब से तीन साल बाद स्टूडेंट्स के पहले बैच को एडमिशन मिलेगा.

First published: 26 July 2018, 17:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी