Home » Education News » NCST had recommended Tiss institute to waive off the dining and hostel charges for SC / ST students
 

SC, ST छात्रों को नहीं देना होगा हॉस्टल और खाने का चार्ज- NCST

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 August 2018, 15:22 IST

राष्‍ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग (NCST) ने अनुसूचित जाति (SC) और अनुसूचित जनजाति (ST) वर्ग के छात्रों के लिए भोजन और हॉस्टल चार्ज छोड़ने के निर्देश दिए हैं. NCST ने मुंबई स्थित टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज (TISS), मुंबई को निर्देशित किया है कि SC/ST स्टूडेंट्स से खाने और रहने के पैसे नहीं वसूले जाएं. आयोग ने इस साल जून में टीआईएसएस के मुंबई परिसर का दौरा किया था. छात्रों द्वारा विरोध प्रदर्शन के बाद आयोग ने फरवरी में अपनी सिफारिशों को फिर से दोहराया.

25 जुलाई को जारी अपनी समीक्षा रिपोर्ट में, एनसीएसटी ने कहा: "आयोग दोहराता है और दृढ़ता से अनुशंसा करता है कि टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज को विभिन्न स्रोतों से धन की व्यवस्था करने की योजना के साथ आगे बढ़ना चाहिए ताकि भोजन और छात्रावास के लिए धन की आवश्यकता को पूरा किया जा सके. एससी / एसटी श्रेणी के गरीब छात्रों के हितों की रक्षा के लिए इसे तत्काल किया जाना चाहिए."

ये भी पढ़ें-RRB Group D Exam Date: सितंबर में होगी रेलवे ग्रुप 'डी' भर्ती परीक्षा: सुशील कुमार मोदी

भारत सरकार के पोस्ट-मैट्रिक स्कॉलरशिप स्कीम (GoI PMS) के अनुचित कार्यान्वयन पर कैंपस में संस्थान के खिलाफ फरवरी में छात्रों द्वारा बड़े पैमाने पर विरोध किया गया था उसके बाद, एनसीएसटी ने एसटी छात्रों के लिए फूडिंग और हॉस्टल फीस छोड़ने के लिए सिफारिश की थी.


First published: 13 August 2018, 15:22 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी