Home » Education News » NEET 2018: Alleging irregularities in the conduct of the NEET exam in West Bengal, CM Mamata Banerjee has sought immediate action and suggested re-examinations
 

NEET 2018: क्या फिर से होगी NEET की परीक्षा, ममता ने HRD मिनिस्ट्री को लिखा पत्र

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 May 2018, 14:03 IST

नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET) का आयोजन केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) द्वारा 6 मई को किया गया था. पश्चिम बंगाल में NEET परीक्षा के संचालन में "अनियमितताओं" का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गलत कार्यवाही के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ तत्काल सख्त कार्रवाई की मांग की है और फिर से NEET की परीक्षा कराने का सुझाव दिया है. सीबीएसई की नीट प्रवेश परीक्षा के माध्यम से पूरे देश के मेडिकल कॉलेज / संस्थानों में ग्रेजुएशन कोर्स (MBBS, BDS) के लिए स्टूडेंट्स को एडमिशन मिलता है.

सीएम ममता बनर्जी ने केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री(HRD) प्रकाश जावड़ेकर को पत्र लिखकर अपनी आपत्ति दर्ज कराई है. इस एग्जाम के आयोजन में राज्य सरकार की भागीदारी और भविष्य में परीक्षा के लिए फूलप्रूफ व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए CBSE से संस्थागत स्तर पर समन्वय ( coordination mechanism) का सुझाव दिया.

गौरतलब है कि कई परीक्षा केंद्रों में छात्रों को समय पर NEET का बंगाली भाषा में प्रश्न पत्र उपलब्ध नहीं कराए गए थे. कई लोगों को क्वेश्चन पेपर की फोटोकॉपी दी गई थीं जिससे कई छात्रों के पास  एक ही कैंडिडेट कोड चला गया. जबकि प्रश्नपत्रों की फोटोकॉपी से एग्जाम करना गैरकानूनी माना जाता है.

ये भी पढ़ें -NEET Exam 2018: परीक्षा हॉल में जाने से पहले टॉर्च जलाकर कान तक की हुई जांच

सीएम ममता ने आरोप लगाए कि इस लापरवाही की वजह से कई छात्रों को अंग्रेजी या हिंदी क्वेश्चन पेपर का उपयोग करके जवाब लिखने के लिए मजबूर होना पड़ा, जिसका सीधा असर उनके रिजल्ट पर पड़ेगा. उन्होंने आगे कहा मैं दृढ़ता से मांग करती हूँ कि अनियमितताओं के लिए ज़िम्मेदार व्यक्तियों के खिलाफ तत्काल कठोर कार्रवाई की जाए करें और इसका समाधान निकला जाए  ताकि उम्मीदवारों के रिजल्ट पर प्रतिकूल प्रभाव न पड़े.

सीएम ने मांग की है कि NEET में उम्मीदवारों को उचित अवसर देने के लिए परीक्षा फिर से करायी जाए. उन्होंने आगे कहा कि कहा कि ऐसी समस्याओं से बोर्ड को पिछले साल NEET एग्जाम के समय अवगत कराया गया था. इसके बाद हमें आश्वासन दिया गया कि ऐसी अनियमितताओं को दोहराया नहीं जाएगा. CBSE अधिकारियों ने इस साल भी NEET परीक्षा के लिए पर्याप्त उपाय नहीं किए. उम्मीदवारों के करियर से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं जाएगी.

First published: 8 May 2018, 14:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी