Home » Education News » NEET Exam 2018: HC allowed to sikh students to carry 'kada' and 'kripan' during exam
 

NEET Exam: दिल्ली HC का फैसला, सिख छात्र 'कड़ा' और 'कृपाण' पहनकर दे सकेंगे परीक्षा

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 May 2018, 10:54 IST

देश में मेडिकल कॉलेज में एडमिशन के लिए होने वाली परीक्षा नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET) को लेकर है हाई कोर्ट ने अहम फैसला दिया है. नीट परीक्षा का आयोजन 6 मई को किया गया है. इस परीक्षा को लेकर हाई कोर्ट ने फैसला दिया है. गौरतलब है कि इस परीक्षा के लिए सीबीएसई ने छात्रों के लिए ड्रेस कोड जारी किया था. वहीं अब ड्रेस कोड को लेकर सिख समुदाय के छात्रों को राहत मिली है.

दरअसल दिल्ली हाई कोर्ट ने सिख छात्रों को ''कड़ा'' और ''कृपाण'' ले जाने की इजाजत दे दी है. जस्टिस एसआर भट और एके चावला की पीठ ने यह आदेश दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी की ओर से दाखिल याचिका पर दिया है.

ये भी पढ़ें- इस सरकारी विभाग में नौकरी का शानदार मौका, 85 हजार तक मिलेगी सैलरी

इस आदेश को देते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने सीबीएसई से कहा कि वह 6 मई को देशभर में होने जा रहे नीट परीक्षा के दौरान सिख समुदाय के छात्रों को ''कड़ा'' और ''कृपाण' साथ में रखने की अनुमति दे दी. बता दें, सिख छात्र को परीक्षा शुरू होने से एक घंटे पहले परीक्षा केंद्र पहुंचना होगा.


पिछले साल हुई नीट की परीक्षा में बुर्का, ताबीज, ब्रेसलेट के साथ ही कृपाण पर भी रोक लगा दी गई थी. नीट की परीक्षा मुश्किल परीक्षा में से एक मानी जाती है. ऐसे में ये परीक्षा कड़ी निगरानी में आयोजित की जाएगी.

 

क्या है परीक्षा का ड्रेस कोड

  • फुलस्लीव की शर्ट, हाई हिल्स सैंडिल पहनकर आने वाले उम्मीदवारों को नीट की परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं दी जाएगी.
  • अंगूठी, झुमके, चेन जैसे जेवरात पर भी रोक लगा दी गई है.
  • ड्रेस कोड के अनुसार परीक्षा में हल्के कलर की हाफ बाजू की कमीज/शर्ट जिसमें कोई भी बटन लगा हो वही पहनकर आना होगा.
  • हाफ बाजू कमीज के साथ पतलून या सलवार ही पहनकर आना होगा.
  • यदि उम्मीदवार परंपरागत पोशाक में आता है तो उसे परीक्षा शुरू होने से एक घंटे पहले ही इसकी सूचना देनी होगी, ताकि उसकी जांच ठीक प्रकार से की जा सके.

First published: 4 May 2018, 10:54 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी