Home » Education News » Delhi Nursery Admission 2018: First list of private nursery school will be issued today, next list will issue on 28
 

Nursery Admission 2018: आज जारी हो सकती है पहली लिस्ट, 28 को जारी होगी दूसरी लिस्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 February 2018, 12:28 IST

नर्सरी ऐडमिशन के लिए सभी प्राइवेट स्कूलों की पहली लिस्ट आज जारी होगी. नर्सरी की पहली लिस्ट आज जारी होगी. पहली लिस्ट के साथ साथ वेटिंग लिस्ट भी इसी दिन निकाली जाएगी. इससे जुड़े सवालों के लिए 16 फरवरी से 20 फरवरी तक पैरंट्स स्कूलों और शिक्षा निदेशालय से बात कर सकते हैं.

इसके बाद कैंडिडेट्स की दूसरी लिस्ट 28 फरवरी को जारी होगी. मगर अब तक 1695 स्कूलों में से सिर्फ 697 स्कूलों ने ही कैंडिडेट्स और उनके पॉइंट की लिस्ट शिक्षा निदेशालय की वेबसाइट पर अपलोड की है. सभी स्कूलों को 8 फरवरी तक कैंडिडेट्स की लिस्ट वेबसाइट में अपलोड करनी थी.

 

पैरंट्स शिक्षा निदेशालय के पोर्टल और स्कूल की वेबसाइट पर लिस्ट देख सकते हैं. हालांकि, शिक्षा निदेशालय के पोर्टल में अब तक करीब एक हजार स्कूलों ने वेबसाइट में कैंडिडेट्स की डिटेल अपलोड नहीं की है.

इसमें नॉर्थ ईस्ट के स्कूल सबसे पीछे हैं. इस डिस्ट्रिक्ट के अब तक 303 में से 259 स्कूलों ने जनरल सीटों के लिए अप्लाई करने वाले स्टूडेंट्स की डिटेल नहीं भरी है. साउथ वेस्ट-बी में 224 में से 124 स्कूलों, नॉर्थ वेस्ट-ए में 132 में से 75 स्कूलों ने जानकारी नहीं दी है. हालांकि, सेंट्रल और नई दिल्ली के स्कूलों की स्थिति बेहतर है. सेंट्रल दिल्ली में 26 में 7 स्कूलों और नई दिल्ली में 13 में से 3 स्कूलों ने यह काम नहीं किया है.

 

इस क्रम में दूसरी सूची 28 फरवरी को जारी हो सकती है. जबकि दाखिले की प्रक्रिया 31 मार्च तक ही चलेगी. खास बात यह है कि इस साल सरकार ने दाखिले के नियमों में कोई बदलाव नहीं किया था. साथ ही स्कूलों को क्राइटेरिया तय करने की छूट दी गई थी. स्कूलों को अपने हिसाब से ही दूरी, पहला बच्चा, गर्ल चाइल्ड और एल्युम्नस के आधार पर प्वाइंट देने को भी कहा गया था.

यह भी पढ़ेंसरकार ने लांच की 'RISE', हायर एजुकेशन और रिसर्च को मिलेगा बढ़ावा

हालांकि सरकार ने सभी स्कूलों को अपने द्वारा तय किए गए नियमों की जानकारी देने और उसे वेबसाइट पर भी अपलोड करने की बात भी कही थी. गौरतलब है कि पिछले साल की तुलना में इस बार सरकार ने स्कूलों को अपने आधार पर नियम बनाने की छूट दी है.

First published: 15 February 2018, 11:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी