Home » Education News » President Ram nath Kovind wishes students for the Board exams of CBSE, conducted all over the nation today
 

CBSE बोर्ड परीक्षाएं शुरू, राष्ट्रपति कोविंद ने दी छात्रों को शुभकामनाएं

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 March 2018, 9:56 IST

सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाएं आज से शुरू हो गयीं हैं. दसवीं की पहली बोर्ड परीक्षा वोकेशनल विषय की होगी तो वहीं बारहवीं के विद्याथी अंग्रेजी विषय की परीक्षा देंगे. 12 अप्रैल को बारहवीं के विद्यार्थियों के लिए होम साइंस की परीक्षा आयोजित होगी.

दसवीं व बारहवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने विद्यार्थियों को शुभकामनाएं दी हैं.

परीक्षाओं के लिए कुल 8,591 परीक्षा केंद्र

दोनों कक्षाओं की परीक्षाएं सुबह 10:30 से शुरू होंगी. दसवीं व बारहवीं की बोर्ड परीक्षाओं को शांतिपूर्ण रूप से संपन्न बनाने के लिए बोर्ड ने देशभर में कुल 8,591 परीक्षा केंद्र बनाए हैं. इनमें परीक्षा देने के लिए दोनों कक्षाओं के कुल 28 लाख 24 हजार 734 विद्यार्थियों पंजीकृत हैं. इसमें बारहवीं कक्षा की परीक्षा के लिए 11,86,306 विद्यार्थी तो दसवीं कक्षा की परीक्षा के लिए 16,38428 विद्यार्थी पंजीकृत हैं.

 

4 हजार से ज्यादा केंद्रों पर आयोजित होगी परीक्षा

सीबीएससी ने कहा 10वीं परीक्षाएं भारत में 4,453 और देश से बाहर 78 केंद्रों पर आयोजित हो रही है. इसी तरह 12वीं की परीक्षा भारत में 4,138 और विदेशों में 71 केंद्रों पर आयोजित करने की तैयारी है. वहीं सीबीएसई अधिकारी ने कहा, 'बोर्ड ने देशभर में नकलविहीन परीक्षा और कठिनाइयों से मुक्त परीक्षा सुनिश्चित करने के लिए राज्य प्राधिकरणों एवं स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर पर्याप्त व्यवस्थाएं की है.

ये भी पढ़ें- SSC घोटाला: CBI जांच की मांग पर अड़े छात्रों को मिला अन्ना हजारे का साथ, मिलने पहुंचे

डायबिटीज से पीड़ित छात्रों का खास ख्याल

सीबीएसई ने डायबिटीज से पीड़ित छात्रों का खास ख्याल रखते हुए कहा है कि उन्हें परीक्षा केंद्रों में खाने पीने की चीजें रखने की मंजूरी दी गई है.

 

 

कुछ परिस्तिथिओं में छात्र लैपटॉप इस्तेमाल कर सकते हैं.

सीबीएसई ने 10वीं और 12वीं कक्षा के उन छात्रों को बड़ी राहत दी है, जो किसी तरह की शारीरिक अक्षमता से पीड़ित हैं. उन विशेष जरूरत वाले छात्रों को सीबीएसई ने बोर्ड परीक्षा में कंप्यूटर या लैपटॉप इस्तेमाल करने की अनुमति दे दी है. वहीं परीक्षा केंद्र के अंदर जाने से पहले कंप्यूटर शिक्षक उनके लैपटॉप की जांच करेंगे साथ ही इंटरनेट कनेक्शन की मंजूरी नहीं होगी. 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं के लिए शारीरिक रूप से पीड़ित 4,510 और 2,846 छात्रों ने पंजीकरण कराया है.

अचानक बीमार होने पर भी मिलेगी स्क्राइब की सुविधा

सीबीएसई ने अपने परीक्षा उपनियमों में इस बार से अहम बदलाव किया है. इसके तहत परीक्षा के दौरान अगर विद्यार्थी आकस्मिक रूप से बीमार हो जाते हैं तो ऐसी स्थिति में उन्हें प्रश्न पत्र हल करने के लिए स्क्राइब (लिपिक) की सुविधा मिलेगी. इस सुविधा का लाभ प्राप्त करने के लिए आकस्मिक रूप से बीमार विद्यार्थी को असिस्टेंट सर्जन स्तर के चिकित्सा अधिकारी की तरफ से जारी मेडिकल सर्टिफिकेट प्रस्तुत करना होगा. इसके बाद वे जूनियर विद्यार्थी का स्क्राइब के तौर पर प्रयोग कर सकेंगे. यहां निगरानी के लिए एक अधिकारी नियुक्त होगा.

 

First published: 5 March 2018, 9:56 IST
 
अगली कहानी