Home » Education News » Seats vacant in Technical education, Government tells IIT-Delhi to draft a National perspective plan
 

केंद्र सरकार ने तकनीकी शिक्षा की बची आधी सीटें भरने के लिए IIT DELHI को दिया आदेश

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 June 2018, 12:56 IST
iit delhi

पिछले कुछ सालों से तकनीकी शिक्षा (Technical education) में करीब आधे सीटें खाली रह रहीं हैं. केंद्र सरकार ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) को इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट और वास्तुकला (Architecture) सहित अन्य टेक्निकल कोर्सेस में अगले 10 से 15 वर्षों में एजुकेशनल प्रोग्राम की आवश्यकता को ध्यान में रखकर राष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य (National Perspective) में एक योजना तैयार करने के लिए कहा है.

ये भी पढ़ें-जामिया और AMU में भी मिले दलितों को अारक्षण, ना हो अपमान- योगी आदित्यनाथ

केंद्र सरकार ने एक ऐसी योजना बनाने के लिए कहा है जिससे उद्योग जगत की वर्तमान स्थिति, नौकरियों की संभावना और भविष्य में तकनीकी कोर्सेस की मांग सहित कई पहलुओं का अनुमान लगाया जा सके. इस योजना से ऑल इंडिया काउन्सिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (AICTE) को यह तय करने में मदद मिलेगी कि कितने नए संस्थान को स्वीकृती दी जाए और साल में कितनी नई सीटों को किस कोर्स जोड़ना में जोड़ना है.

पिछले साल, AICTE ने राष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य योजना के मसौदे के लिए विश्वेश्वरा टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी (VTU) बेलगाम के पूर्व कुलगुरू प्रोफेसर एच पी खिनचा की अध्यक्षता में एक समिति की स्थापना की थी. दरअसल इस योजना में बड़े पैमाने पर आवश्यक डेटा कलेक्ट करने की जरुरत थी इसलिए समिति ने सुझाव दिया कि AICTE  डेटा को एकत्रित करने के लिए निजी क्षेत्र के एजेंसी की मदद ली जाए.

हालांकि, सरकार ने इसके सुचारु कार्यान्वन के लिए IIT -दिल्ली को जिम्मेवारी दिया है. 28 मई को जारी आदेश के मुताबिक, IIT -दिल्ली पहले राज्य  परिप्रेक्ष्य में योजना तैयार करने के लिए प्रत्येक राज्य में एक IIT / IIM / NIT के साथ समन्वय करेगा और फिर राष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य के लिए योजना तैयार की जाएगी, इसके लिए आईआईटी दिल्ली चार महीने का समय दिया गया है.

First published: 26 June 2018, 12:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी