Home » Education News » UGC plan to introduce 4 year graduation system to take direct admission in PhD
 

अब तीन में नहीं चार साल में पूरा होगा ग्रेजुएशन, फिर PhD में ले सकेंगे डायरेक्ट एडमिशन

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 September 2019, 12:12 IST

12वीं के बाद आगे की बढ़ाई करने जा रहे स्टूडेंट्स के लिए जरूरी खबर है. क्योंकि अब आपको ग्रेजुएशन में तीन साल नहीं बल्कि चार साल तक पढ़ाई करनी पड़ सकती है. दरअसल, UGC यानी विश्‍वविद्यालय अनुदान आयोग ने ग्रेजुएशन के पाठ्यक्रमों में बड़ा बदलाव करने की तैयारी कर रहा है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यूजीसी जल्‍द ही ऐसी व्‍यवस्‍था लागू करने पर विचार कर रहा है, जिसमें ग्रेजुएशन की अवधि तीन साल की बजाय चार साल होगी. खबरों के मुताबिक, ये पाठ्यक्रम देश की सभी यूनिवर्सिटीज में लागू होगा. हालांकि उसके बाद आपको पीजी करने की जरूरत नहीं पड़ेगी और आप सीधे पीएचडी में एडमिशन ले सकेंगे.

बता दें कि फिलहाल ग्रेजुएशन करने के लिए आपको तीन साल का वक्त लगता है, उसके बाद दो साल की मास्टर डिग्री लेनी होती है उसके बाद ही आपको पीएचडी में एडमिशन मिल पाता है. लेकिन नई व्यवस्था लागू होने से आपका एक साल का वक्त बचेगा और आप पीएचडी आसानी से कर सकेंगे. यूजीसी के अध्यक्ष प्रो. डीपी सिंह ने इसकी पुष्‍ट‍ि की है.

नई व्यवस्था के मुताबिक आपको इस बात की आजादी मिली रहेगी कि अगर आप ग्रेजुएशन करने के बाद मास्‍टर डिग्री लेना चाहता है तो वह आप कर सकते हैं. फिलहाल, ग्रेजुएशन के जो पाठ्यक्रम पहले से ही चार साल के हैं. जिनमें बैचलर ऑफ टेक्‍नोलॉजी (Btech) और बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग (BE) शामिल हैं.

इसके बाद छात्र पीएचडी कर सकते हैं. शिक्षा नीति में हो रहे इस बदलाव को सही रूप देने के लिये विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने एक समिति भी गठित की है. इस समिति ने कई सिफारिशों के साथ अपनी रिपोर्ट UGC को सौंप दी है. अब यूजीसी इन सिफारिशों पर विचार कर रहा है. सूत्रों के मुताबिक, UGC जिन सिफारिशों पर गंभीरता से विचार कर रहा है, उसमें ग्रेजुएशन कोर्स की अवधि तीन से बढ़ाकर चार साल करना भी शामिल है.

सूत्रों के अनुसार यूजीसी चाहता है कि सभी पहलुओं को अच्‍छी तरह समझने के बाद ही यूजीसी चार साल के पाठ्यक्रम को लागू करना चाहता है. हालांकि यह अब तक स्‍पष्‍ट नहीं है कि नई नीति को कब से लागू होगी.

यहां निकलीं 12वीं और ग्रेजुएट पास के लिए वैकेंसी, मिलेगी बंपर सैलरी

First published: 4 September 2019, 12:17 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी