Home » Education News » UP Board result 2018: This law of the UP government had failed, 86 percent of children in the 10th
 

UP Board result 2018: यूपी सरकार के इस कानून ने फेल कराए थे 10वीं के 86 फीसदी बच्‍चे

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 April 2018, 13:50 IST

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (UPMSP), 10वीं 12वीं क्लास का रिजल्ट जारी कर दिया गया है. यूपी बोर्ड के स्टूडेंट्स अपना परीक्षा परिणाम देखने के लिए बोर्ड के ऑफिशियल वेबसाइट upmsp.edu.in पर लॉग-इन कर चेक करें. स्टूडेंट्स अपना रिजल्ट patrika.com/up-board-result पर भी देख सकते हैं.

इस साल काफी सख्ती के साथ परीक्षाएं हुईं. इस परीक्षा में करीब 66 लाख विद्यार्थियों ने रजिस्ट्रेशन कराया था. लेकिन नकल रोकने के लिए सरकार की तरफ से इतने सख्त इंतजाम किए गए थे कि 11 लाख विद्यार्थियों ने परीक्षा बीच में ही छोड़ दी. इसके बाद ऐसा कहा जा रहा है कि इस बार यूपी बोर्ड का रिजल्ट खराब आ सकता है.  इस साल की परिक्षाओं ने 1992 के यूपी बोर्ड परिक्षाओं की याद दिला दी. उस दौरान कल्याण सिंह सरकार में ये परिक्षाएं हुई थीं, जिसमें 10वीं के 86 प्रतिशत बच्चे फेल हुए थे.

ये भी पढ़ें -UP Board 10th Result 2018: यूपी बोर्ड के 10वीं का रिजल्ट जारी, अंजलि वर्मा बनीं टॉपर

यूपी बोर्ड के पूर्व सचिव शैल यादव ने बताया कि बोर्ड ने पिछले कुछ वर्षों में अपने नियमों में कई बदलाव किए हैं. उन्होंने बताया कि क्वेश्चन पेपर का पैटर्न भी बदला है. जिसका लाभ सीधे तौर पर स्टूडेंट्स को मिलेगा. हालांकि उन्होने यह भी कहा कि एग्जाम में सख्ती के कारण पास करने के प्रतिशत में कमी तो आएगी लेकिन 1992 जैसे हालात नहीं रहेंगे. साल 1992 में जब कल्याण सिंह मुख्यमंत्री थे तो परीक्षा में सख्ती के कारण 10 वीं में सिर्फ 14.70 फीसदी जबकि इंटर में 30.30 प्रतिशत स्टूडेंट्स पास हुए थे.

उस दौरान नकल अध्यादेश यूपी के गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने लागू किया था. जिसके बाद उनकी काफी तारीफ हुई थी. लेकिन 1993 में कल्याण सिंह की सरकार चली गई थी. 1993 में विधानसभा चुनाव में मुलायम सिंह की सरकार आई थी. जिसके बाद उन्होंने अध्यादेश को हटा दिया था. राजनाथ सिंह विधानसभा चुनाव तक हार गए थे. इस साल 10वीं के 37 लाख 12 हजार स्टूडेंट्स ने परीक्षा दी थी. पिछले साल के मुकाबले इस साल छात्रों की संख्या बढ़ी है. बता दें, रिजल्ट जारी होने के 15 दिन के अंदर ही ऑरिजनल मार्कशीट और पासिंग सर्टिफिकेट जारी कर दिए जाएंगे.

First published: 29 April 2018, 13:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी