Home » Education News » why 101 management schools apply to shut shop ?
 

क्यों देश के मैनेजमेंट संस्थानों में 10,000 से ज्यादा सीटें ख़त्म होने वाली है ?

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 April 2018, 18:01 IST

 मैनेजमेंट संस्थानों में छात्रों की रुचि लगातार कम होती जा रही है. एक रिपोर्ट की माने तो देश में कुल 100 से ज्यादा मैनेजमेंट संस्थानों ने अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) में आवेदन किया है कि वह अपना बंद करना चाहते हैं. इससे जुड़े अधिकारियों ने यह जानकारी कि इन इसके पीछे संस्थानों में दाखिले के लिए आने वाले छात्रों की संख्या में कमी और कैंपस प्लेसमेंट के जरिये नौकरियां न मिल पाना प्रमुख कारण है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर इन 101 संस्थानों को बंद करने की अपील स्वीकार कर की गई तो 10,000 सीटें खत्म हो जाएंगी. इनके अलावा कुछ संस्थानों ने केवल मैनेजमेंट कोर्स के समापन के लिए आवेदन किया है. भारत में एआईसीटीई द्वारा मान्यता प्राप्त 3,000 मैनेजमेंट संस्थान हैं जहां एमबीए डिग्री और पोस्टग्रेजुएट डिप्लोमा कराए जाते हैं.

एआईसीटीई के आंकड़ों के अनुसार जिन 101 मैनेजमेंट संस्थानों ने स्वैच्छिक समापन के लिए अपील की है उनमे सबसे ज्यादा संस्थान उत्तर प्रदेश (37) के हैं. जबकि कर्नाटक और महाराष्ट्र से 10-10 संस्थानों ने स्वैच्छिक समापन के लिए एआईसीटीई को लिखा है.

2016-17 और 2015-16 में भी क्रमशः 76 और 66 मैनेजमेंट संस्थान इसी तरह समाप्त कर दिए गए थे. आंकड़ों के अनुसार 2016-17 में मात्र 47 प्रतिशत (करीब डेढ़ लाख) एमबीए ग्रेजुएट छात्रों को कैंपस प्लेसमेंट के जरिये नौकरियां मिली. वहीं 2015-16 में 51 प्रतिशत छात्रों को नौकरियां मिली थीं.

First published: 25 April 2018, 18:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी