Home » मनोरंजन » anurag kashyap: is it rong to censor board cut any scene of film 'udta punjab'
 

अनुराग कश्यप: ‘उड़ता पंजाब’ पर कैंची कलात्मकता का कत्ल

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:49 IST
(फिल्म ‘उड़ता पंजाब’)

बॉलीवुड के जाने-माने निर्माता-निर्देशक अनुराग कश्यप ने कहा है कि अगर भारतीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सेंसर बोर्ड) फिल्म ‘उड़ता पंजाब’ से एक भी सीन को कटता है, तो यह उस फिल्म की कलात्मकता की हत्या होगी.

फिल्म 'सत्या' के पटकथा लेखक और ‘बॉम्बे वेलवेट’, 'पांच’, ‘ब्लैक फ्राइडे’ 'देव-ड़ी' जैसी फिल्मों के निर्देशक रहे अनुराग कश्यप का सेंसर बोर्ड से फिल्मों को पास करने पर अक़्सर विवाद रहा है.

बीते दिनों पहले मीडिया में ऐसी खबरें आई थी कि पंजाब में ड्रग्स के सेवन पर बनी ‘उड़ता पंजाब’ फिल्म में अपशब्द और नशीली दवाओं का इस्तेमाल होने के चलते सेंसर बोर्ड उसे मंजूरी नहीं दे रहा है.

अनुराग कश्यप फिल्म ‘उड़ता पंजाब’ के सह-निर्माता हैं. अनुराग कश्यप ने कहा कि अन्य फिल्मों की तरह उनकी फिल्म को भी पुनरीक्षण समिति के पास भेजा गया है.

सेंसर बोर्ड के फिल्म से दृश्य हटाने पर फिल्म की कलात्मकता के कम होने के संबंध में सवाल पूछे जाने पर अनुराग ने कहा, "फिल्मकार जब अपनी फिल्म तैयार कर लेता है, तो वह उसे सीबीएफसी के पास भेजता है.

फिल्मकार के मुताबिक उसे वह फिल्म वैसी ही चाहिए होती है. इसलिए जब उसमें से थोड़े भी दृश्य हटाए जाते हैं, तो वह उसका कत्ल-ए-आम जैसा होता है." कश्यप ने कहा, "मुझे नहीं लगता कि फिल्मकार फिल्म बनाने के बाद यह कहेगा कि आप इसमें से जो दृश्य मन करे हटा दें और जो मन करें उसे छोड़ दें."

अनुराग कश्यप ने यह बयान अपनी आने वाली फिल्म ‘रमन राघव 2.0’ के नए गीत ‘कत्ल-ए-आम’ के लॉन्च के दौरान दिया. ‘रमन राघव 2.0’ में नवाजुद्दीन सिद्दीकी और विक्की कौशल मुख्य भूमिका में हैं. फिल्म 24 जून को दर्शकों के लिए सिनेमा घरों में रिलीज होगी.

First published: 4 June 2016, 5:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी