Home » मनोरंजन » commission for women closed the case of anu malik
 

मीटू मामले में अनु मलिक का केस बंद, नहीं मिले सबूत

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 January 2020, 16:12 IST

संगीतकार अनु मलिक (Anu malik) पर मीटू के तहत यौन शोषण का आरोप लगा था. इस मामले पर अब उन्हें राहत मिली है. ये आरोप गायिका सोना मोहापात्रा सहित कई महिलाओं ने लगाए थे. जिसे अब महिला आयोग ने बंद कर दिया है. महिला आयोग को अनु मलिक के खिलाफ कोई भी सबूत नहीं मिले हैं. इसी वजह से उन्हें ये कदम उठाना पड़ा.

इस पूरे मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग की मुखिया रेखा शर्मा ने कहा कि एक शिकायतकर्ता के अभियोग का जवाब देते हुए, हमने शिकायतकर्ता को लिखा. रेखा ने आगे कहा कि शिकायतकर्ता ने हमसे कहा था कि वह एक यात्रा पर है, और जब भी वो लौटेगी, वह हमसे मिलने आएगी. हमने लगभग 45 दिनों तक इंतजार किया,और हमने कुछ दस्तावेज भी मांगे थे. लेकिन उसके बाद उसने कभी जवाब नहीं दिया.

शिकायतकर्ता ने हमें सूचित किया है कि ऐसी और भी कई महिलाएं हैं जिनके पास अनु मलिक के खिलाफ शिकायतें हैं. इसके बाद हमने उनसे कहा कि वो भी हमारे साथ शिकायत दर्ज कर सकते हैं, लेकिन उनमें से किसी ने भी अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. रेखा मामले के बारे में बताती हैं कि इसका फैसला अभी पूरी तरह से नहीं हुआ है.

 

इसी के साथ उन्होंने कहा कि यह मामले की स्थायी बंद नहीं है. यदि शिकायतकर्ता आगे आता है या मामले से संबंधित और ज्यादा सबूत लाता है, या किसी भी तरह के दस्तावेज सबूत के तौर पर जमा करता है. तो हम इस केस को फिर से खोल सकते हैं.

बताते चलें कि अनु मलिक पर सोना माहापात्रा के अलावा श्वेता पंडित ने भी यौन शोषण के गंभीर आरोप लगाए थे. इस मामले में नेहा भसीन ने भी सोना का समर्थन किया था. सोना के आरोपों पर अनु मलिक ने अपना पक्ष रखते हुए कहा था कि मैं इस पर बोलना चाह रहा हूं.


मेरे ऊपर लगे सभी आरोप गलत हैं. मैं दो बेटियों का पिता हूं. मैं ऐसा करने की सोच भी नहीं सकता. वहीं अनु मलिक को इंडियन आइडल 11 में बतौर जज लिया गया था. लेकिन सोना ने फिर से आवाज उठाई तो अनु मलिक को शो से हटा दिया गया.

Tanhaji Box Office Collection Day 7: 21 साल बाद पर्दे पर दिखें अजय और सैफ, बना दिए रिकॉर्ड पर रिकॉर्ड 

First published: 17 January 2020, 16:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी