Home » मनोरंजन » Dilip Kumar laid to rest with full state honours, Shah Rukh and Ranbir Kapoor console Saira Banu
 

मुंबई के जुहू कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक किया गया दिलीप कुमार का पार्थिव शरीर, राजकीय सम्मान के साथ दी गई अंतिम विदाई

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 July 2021, 8:15 IST
Dilip Kumar (Catch Hindi)

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार के पार्थिव शरीर को मुंबई के जुहू कब्रिस्तान सुपुर्द ए-खाक कर दिया है. उनके अंतिम दर्शन के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी. मुंबई पुलिस के जवानों ने फायर कर दिलीप कुमार को आखिरी सलामी दी है. बता दें कि बुधवार सुबह मुंबई केे एक अस्पताल में करीब 7:30 बजे उनका निधन हो गया. वे 98 साल के थे. उन्होंने मुंबई के हिंदुजा हॉस्पिटल में अंतिम सांस ली. सांस लेने में दिक्कत होने पर उन्हें 29 जून को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. दिलीप कुमार को श्रद्धांजलि देने के लिए महाराष्ट्र क मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, NCP प्रमुख शरद पवार और शाहरुख खान उनके घर पहुंचे. दिलीप कुमार की तबीयत लंबे समय से ठीक नहीं थी. उन्हें कई बार हॉस्पिटल में भी भर्ती करना पड़ा. उन्हें पिछले एक महीने में दो बार अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. दिलीप कुमार का असली नाम मोहम्मद यूसुफ खान था.

उनका जन्म पाकिस्तान के पेशावर में हुआ था. उनके निधन पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी शोक जताया. इसके अलावा विद्या बालन अपने पति सिद्धार्थ रॉय कपूर के साथ दिलीप कुमार के घर पहुंचीं. कुछ देर बाद एक्टर अनुपम खेर भी यहां अंतिम दर्शन के लिए आए. दिलीप कुमार के डॉक्टर जलील पारकर ने मीडिया से कहा, ‘दिलीप साहब उम्र से जुड़ी दिक्कतों का सामना कर रहे थे. ऐसे में इस वक्त यह पूछना ठीक नहीं है कि उन्हें किस तरह का ट्रीटमेंट दिया जा रहा था. आप रीजन ऑफ डेथ मत पूछिए. थोड़ी इज्जत दीजिए.’ वहीं बॉलीवुड के सुपरस्टार सलमान खान ने भी दिलीप कुमार के निधन पर दुःख जताया. सलमान ने पुराने दिनों को याद करते हुए दिलीप कुमार के साथ की अपनी एक पुरानी तस्वीर सोशल मीडिया में शेयर की.


बता दें कि दिलीप कुमार ने अपने पांच दशक लंबे करियर में करीब 62 फिल्मों में काम किया. उनके बारे में एक बात और कही जाती है कि उन्होंने अपने करियर में कई फिल्मों को ठुकरा दिया था, क्योंकि उनका मानना था कि फिल्में कम हों, लेकिन बेहतर हों. कई लोग बताते हैं कि उन्हें इस बात का मलाल रहा था कि वे ‘प्यासा’ और ‘दीवार’ में काम नहीं कर पाए. बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन और अभिषेक बच्चन भी दिलीप कुमार को श्रद्धांजलि देने उनके घर पहुंचे.

कई अवार्ड से नवाए गए थे दिलीप कुमार

साल 1991 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया और उसके बाद साल 1994 में उन्हं दादासाहेब फाल्के अवॉर्ड से नवाजा गया. उसके बाद साल 2015 में उन्हें पद्म विभूषण से भी सम्मानित किया गया.

10 बार फिल्मफेयर अवॉर्ड जीते थे दिलीप कुमार

साल 1954 में उन्हें दाग फिल्म के लिए बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड दिया गया. उसके बाद साल 1956 में उन्हें अंदाज के लिए बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड दिया गया. 1957 में देवदास, 1958 में नया दौर, 1961 में कोहिनूर, 1965 में लीडर, 1968 में राम और श्याम, 1983 में शक्ति फिल्म के लिए उन्हें बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड दिया गया. साल 1994 में उन्हें लाइफ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड भी मिला. वहीं 2005 में उन्हें स्पेशल अवार्ड से सम्मानित किया गया.

नेशनल अवॉर्ड

साल 1961 मेें उन्हें सैकंड बेस्ट फीचर फिल्म (गंगा जमुना), 1994 में दादासाहेब फाल्के सम्मान और साल 2006 में स्पेशल लाइफ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से भी दिलीप कुमार को सम्मानित किया गया.

First published: 7 July 2021, 17:29 IST
 
अगली कहानी