Home » मनोरंजन » kangana ranaut: cencer boar accept to swoing bra in film is harmful to socity
 

कंगना रनौत: सेंसर बोर्ड तो 'ब्रा' दिखाने पर भी बिदक जाता है

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 August 2016, 10:57 IST
(पीटीआई)

अपने अभिनय के लिए तीन बार राष्ट्रीय पुरस्कार जीत चुकी अभिनेत्री कंगना रनौत फिल्म 'उड़ता पंजाब' के मामले में सेंसर बोर्ड और फिल्मकार अनुराग कश्यप के विवाद में अनुराग कश्यप को अपना पूरा समर्थन देंगी.

एक टीवी चैनल के पुरस्कार कार्यक्रम में कंगना रनौत ने कहा कि सेंसर बोर्ड हमेशा से फिल्‍ममेकर्स को धमकाता रहा है.

फिल्म 'उड़ता पंजाब' के मामले में रनौत ने कहा कि, ‘पूरे मामले में चीजें जिस तरह से हो रही हैं, उससे हम सभी बेहद परेशान हैं. मैं निर्देशक तो नहीं हूं और न ही मैं कभी सेंसर बोर्ड की प्रक्रिया से गुजरी हूं. लेकिन फिर भी मैं अपने आसपास के लोगों को इस मामले में अक्सर परेशान देखती हूं. उड़ता पंजाब के मामले में जो भी हो रहा है वह सेंसरशिप तो कतई नहीं है. मैं सेंसर बोर्ड की भूमिका के खिलाफ फिल्म को पूरा सपोर्ट करती हूं’

इसके अलावा कंगना रनौत ने सेंसर बोर्ड से जुड़े अपनी एक फिल्म का एक वाकया बताया. कंगना ने बताया कि साल 2014 में उनकी फिल्‍म ‘क्‍वीन’ भी सेंसर के विवादों में फंस गई थी.

सेंसर बोर्ड ने फिल्‍म 'क्वीन' के एक दृश्‍य में दिखाए गए अंडरगारमेंट पर आब्जेक्शन कर दिया था.

उन्होंने बताया कि, ‘मेरी फिल्‍म 'क्‍वीन' में 'ब्रा' से जुड़ा एक मजाकिया दृश्य था. जिसे देखने के बाद बोर्ड ने मेरे डायरेक्‍टर को बुलाया और कहा कि वह फिल्म में 'ब्रा' को ब्‍लर करके दिखाएं. सेंसर बोर्ड का मानना था कि फिल्म में दृश्य वल्‍गर लग रहा है. सेंसर के इस आब्जेक्शन पर मेरे डायरेक्‍टर नाराज भी हुए थे. भला बताइये कि महिला की 'ब्रा' समाज के लिए किस तरह से खतरा हो सकती है.’

First published: 4 August 2016, 10:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी