Home » मनोरंजन » Karni sena said Prasun Joshi President of the Board of Censor is regretting on Bollywood film 'Padmaavat'
 

'पद्मावत को मंजूरी देकर पछता रहे हैं सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी'

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 January 2018, 17:34 IST

करणी सेना ने केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) के अध्यक्ष प्रसून जोशी के जयपुर साहित्य उत्सव में शामिल नहीं होने के निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि जोशी शायद 'पद्मावत' को मंजूरी देकर राजपूतों की भावनाओं को आहत करने की अपनी गलती पर पछता रहे हैं.

संगठन के प्रवक्ता विजेंद्र सिंह ने कहा कि उन्हें खुशी है कि जोशी ने करणी सेना के आग्रह का सम्मान करते हुए अपना दौरा रद्द कर दिया. उन्होंने कहा, "ऐसा लगता है उन्हें अपनी गलती पर पछतावा है कि कैसे उन्होंने राजपूतों की भावनाओं को आहत किया है लगता है कि गलती का एहसास होने पर वह उसकी भरपाई की कोशिश कर रहे हैं."

विजेंद्र सिंह का बयान जयपुर साहित्य उत्सव में शामिल नहीं होने के प्रसून जोशी के बयान के बाद आया है. सीबीएफसी अध्यक्ष जोशी रविवार को जेएलएफ में एक सत्र को संबोधित करने वाले थे. सिंह की यह प्रतिक्रिया सीबीएफसी अध्यक्ष प्रसून जोशी द्वारा यह बयान जारी करने के बाद आई है कि वह जी जयपुर साहित्य उत्सव में शमिल नहीं होंगे.

संजय लीला भंसाली की 'पद्मावत' को फिल्म प्रमाणन बोर्ड से हरी झंडी मिलने के बाद करणी सेना द्वारा जोशी को उत्सव में शामिल नहीं होने के लिए बार-बार धमकी दी जा रही थी. प्रतिवर्ष होने वाले इस उत्सव में मशहूर हस्तियां शामिल होती हैं.करणी सेना प्रमुख लोकेंद्र सिंह कल्वी ने कहा, "हमने उनसे यहां नहीं आने का आग्रह किया था और उन्होंने हमारे आग्रह को स्वीकार कर लिया जिससे हम खुश हैं."

करणी सेना और अन्य सहयोगी तत्व पद्मावत का यह कहते हुए विरोध कर रहे हैं कि इस फिल्म में इतिहास को तोड़ मरोड़ कर पेश किया गया है.

First published: 27 January 2018, 17:31 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी