Home » मनोरंजन » KISHORE KUMAR 4 TIMES MARRIAGE, BUT THEY CAN NOT HAPPY TO ALL
 

किशोर दा ने की थी चार शादियां, लेकिन खुशी कभी न मिली

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:46 IST
(एजेंसी)

हिंदी सिनेमा के महान गायक और अभिनेता किशोर कुमार की आज पुण्यतिथि है. 13 अक्टूबर 1987 को किशोर दा की आवाज हमेशा के लिए खामोश हो गई, लेकिन अपने गीतों से वह आज भी हर किसी के दिल में जिंदा हैं.

मध्य प्रदेश के खंडवा जिले में गांगुली परिवार में जन्मे किशोर कुमार के पिता का नाम कुंजीलाल गांगुली और माता का नाम गौरी देवी था.

उनके बचपन का नाम आभास कुमार गांगुली था. 4 अगस्त, 1929 को जन्मे आभास कुमार ने फिल्मी दुनिया में अपनी पहचान किशोर कुमार के नाम से बनाई.

12 साल की उम्र तक किशोर ने गीत-संगीत में महारत हासिल कर ली. वे रेडियो पर गाने सुनकर उनकी धुन पर थिरकते थे.

फिल्मी गानों की किताब जमा कर उन्हें कंठस्थ कर गाते थे. घर आने वाले मेहमानों को वे अभिनय सहित गाने सुनाते तो 'मनोरंजन-कर' के रूप में कुछ इनाम भी मांग लेते थे.

किशोर कुमार ने अपनी गायकी से न सिर्फ श्रोताओं का दिल जीता था बल्कि अपने आप को संगीत का एक लीजेंड भी बना दिया था.

किशोर कुमार ने एक-दो नहीं बल्कि 4 शादियां की थीं. हालांकि उनकी एक भी शादी सफल नहीं रही.

उनकी पहली पत्नी रुमा गुहा ठाकुरता उर्फ रुमा देवी थीं. वो बहुत ही प्रतिभाशाली महिला थीं लेकिन वो ज्यादा दिन किशोर कुमार के साथ नहीं रह सकीं, क्योंकि वो दोनों जिंदगी को अलग-अलग नजरिए से देखते थे.

किशोर कुमार ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया था कि रुमा देवी करियर बनाना चाहती थी जबकि वो चाहते थे कि कोई उनके घर की देखभाल करें. इसीलिए दोनों अलग हो गए.

इसके बाद किशोर ने दूसरी शादी उस जमाने की मशहूर अभिनेत्री मधुबाला से की. उनसे शादी करने से पहले ही किशोर कुमार जानते थे कि वो काफी बीमार हैं, फिर भी उन्होंने मधुबाला से शादी की.

किशोर ये बात अच्छी तरह से जानते थे कि मधुबाला हृदय की जन्मजात बीमारी से मर रही हैं. लगभग 9 साल तक किशोर कुमार ने उनकी सेवा की. उन्होंने मधुबाला को अपनी आंखों के सामने मरते देखा.

किशोर कुमार ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया था कि योगिता बाली से उनकी तीसरी शादी एक मजाक था. उन्हें नहीं लगता कि योगिता शादी के बारे में गंभीर थीं. किशोर के मुताबिक योगिता अपनी मां को लेकर बहुत ज्यादा ऑब्सेस्ड थी.

किशोर का कहना था कि योगिता कभी उनके पास रहना ही नहीं चाहतीं थीं. वो कहती थी कि आप रात भर जागते और पैसे गिनते हैं. वो दोनों जल्दी ही अलग-अलग हो गए.

इसके बाद किशोर कुमार ने चौथी शादी लीना चंद्रावरकर से की. किशोर कुमार का अपनी पत्नी लीना के बारे में कहना था कि वो एक अलग तरह की इंसान हैं. जब आपके पति को मार दिया जाए आप बदल जाते हैं. आप जिंदगी को समझने लगते हैं. आप चीजों की क्षणभंगुरता को महसूस करने लगते हैं. लीना बिल्कुल वैसी ही थीं.

लेकिन लीना से शादी के बाद किशोर कुमार की मौत जल्द हो गई. उनके अंतिम समय तक लीना चंद्रावरकर ही उनकी अंतिम एवं चौथी पत्नी थीं.

किशोर की आखिरी ख्वाहिश थी कि गृहनगर खंडवा जाकर दही-जलेबी खाएं, लेकिन उनकी यह इच्छा अधूरी रह गई. सदाबहार गायक दिल में दर्द का गुबार लिए खामोशी से इस दुनिया को छोड़ गए.

First published: 13 October 2016, 12:41 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी