Home » मनोरंजन » Legendary singer Mubarak Begum Shaikh passes away at 80
 

मशहूर गायिका मुबारक बेगम का लंबी बीमारी के बाद निधन

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 July 2016, 12:51 IST
(फाइल फोटो )

हिंदी फिल्मों की मशहूर गायिका मुबारक बेगम शेख का लंबी बीमारी के बाद सोमवार रात मुंबई के जोगेश्वरी स्थित अपने घर में निधन हो गया. वह 80 वर्ष की थीं. परिवार के एक सदस्य ने उनके निधन की जानकारी दी.

मुबारक बेगम के परिवार के एक सदस्य ने बताया, "मुबारक बेगम अब हमारे बीच नहीं रहीं. उनका जोगेश्वरी में अपने घर में कल रात साढ़े नौ बजे निधन हो गया. वह कुछ वक्त से बीमार थीं." उन्होंने बताया, मुबारक बेगम का अंतिम संस्कार ओशिवारा के मुस्लिम कब्रिस्तान में किया जाएगा.

50 से 70 के दशक में सुरीला जादू

मुबारक बेगम ने मुख्य तौर पर 1950 से 1970 के दशक के बीच बॉलीवुड के लिए सैकड़ों गीतों और ग़ज़लों को अपनी आवाज दी थी, जिसके लिए उन्हें याद किया जाता है. मुबारक बेगम ने 50 के दशक में अपने करियर की शुरुआत ऑल इंडिया रेडियो से की थी. लेकिन जल्द ही वो फिल्मों में गाने लगीं, तब लता मंगेशकर भी अपने करियर की शुरुआत कर रही थीं.

रेडियो में काम करने के बाद उन्‍होंने वर्ष 1949 की हिंदी फिल्‍म 'आइए' में एक पार्श्‍व गायिका के तौर पर काम किया.  वर्ष 1961 में आई किदार शर्मा की फिल्‍म 'हमारी याद आयेगी' के गाने 'कभी तन्‍हाइयों में यूं हमारी याद आयेगी' और 1963 की फिल्‍म 'हमराही' का गाना 'मुझको अपने गले लगा लो'  मुबारक बेगम के हिट गानों में से एक माने जाते हैं.

दिग्गज संगीतकारों के साथ किया काम

मुबारक बेगम ने 1950 और 1960 के दशक के दौरान सर्वश्रेष्ठ संगीतकारों के साथ काम किया. इनमें एसडी बर्मन, शंकर जयकिशन और खय्याम जैसे दिग्गज संगीतकार शामिल हैं.

राजस्थान में जन्मीं और अहमदाबाद में पली-बढ़ी मुबारक बेगम को बड़ा ब्रेक फिल्म मधुमति के गाने 'हाले दिल सुनाइए से' मिला. फिल्म उस दौर में हिट साबित हुई. किरदार शर्मा की फिल्म 'हमारी याद आएगी' से उन्हें शोहरत मिली और इसके बाद उन्होंने एक से बढ़कर एक नगमे इंडस्ट्री को दिए.

अंतिम दौर में मुफलिसी की शिकार

उनका अंतिम गीत साल 1980 में आयी फिल्म 'राम तो दीवाना है' का था. उसके बाद से वो पिछले 36 सालों से गुमनामी के अंधेरों में गुम थीं.

मुंबई के जोगेश्वरी में अपने परिवार के साथ रहने वाली मुबारक बेगम की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी. काफी अरसे से महज पेंशन पर ही उनका गुजारा चल रहा था.

हिंदी फिल्‍म इंडस्‍ट्री के अभिनेता सलमान खान और लता मंगेशकर उन कुछ चुनिंदा लोगों में से थे, जिन्‍होंने मुबारक बेगम की आर्थिक रूप से मदद की. साथ ही उन्‍होंने लंबे समय तक मुबारक बेगम की दवाइयों का भी पूरा खर्च उठाया था. 

First published: 19 July 2016, 12:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी