Home » मनोरंजन » model sofia hayat: i wear cloth more than baba ramdev
 

मॉडल सोफिया हयात: मैं तो बाबा रामदेव से ज्यादा कपड़े पहनती हूं

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2017, 8:25 IST

मॉडल से नन बन चुकीं ‘बिग बॉस’ की एक्स कंटेंडर रहीं सोफिया हयात ने योग गुरु बाबा रामदेव के बारे में एक बयान देकर बड़ा विवाद खड़ा कर दिया है. 

सोफिया हयात ने कहा, "मैं बाबा रामदेव से ज्यादा कपड़े पहनती हूं. सोफिया की बोल्ड तस्वीरें देखने के बाद राखी ने उनसे पूछा था कि क्या अब भी वो नन हैं? 

राखी के इसी सवाल का सोफिया ने कड़े शब्दों में जवाब देते हुए इंस्टाग्राम पर लंबा-चौड़ा पोस्ट किया है. उन्होंने यह पोस्ट योगा करते हुए उनकी एक बेहद बोल्ड तस्वीर के साथ किया. 

Take yourself so high that you become the light of divinity. Anyone who criticizes any skin show.. I am still wearing more clothes than Baba Ram Dev. Our Gods have always been beautiful. Anyone who judges and criticizes, needs to clean their minds and look at this picture, and indeed every woman as a sacred being of creation. A Goddess. When time began a woman on her period was considered sacred. Her blood was sacred. It was the sign of fertility. Now women hide the fact they are menstruating, and are considered unclean. Ask yourself why? The negative, masculine, left brained archon energy did this. The archons are now gone. Remove the programming of associating negativity with women. It is time. The sacred feminine energy is back and is here to stay in all her power, glory and fertility of the earth and LOVE. Namaste Salaam Gaia Mother Sofia #selfie #yoga #goddess #love #yoga

A photo posted by Sofia Hayat. (Gaia Mother) (@sofiahayat) on

सोफिया ने लिखा जो कोई भी मेरी बॉडी दिखाने की आलोचना कर रहे हैं, उन्हें मैं एक बात साफ बता दूं कि मैंने बाबा रामदेव से ज्यादा कपड़े पहने हुए हैं. हमारे ईश्वर हमेशा से सुंदर हैं. वास्तव में हर औरत महान सृजना है. उन लोगों को अपना दिमाग साफ करना चाहिए, जो तस्वीर में कुछ भी देखकर आलोचना कर रहे हैं. औरत देवी है.

सोफिया ने लिखा कि महिला पूरी तरह पवित्र है. जब उसका पीरियड समय शुरू होता है तो उसको पवित्र माना जाता है. उसका खून पवित्र है, यह प्रजनन शक्ति का प्रतीक है. महिलाएं अपने रक्तस्राव को छुपाती हैं और इसको गंदा माना जाता है. अपने आप से पूछिए क्यों? यह सिर्फ नकारात्मकता, मर्दानेपन और रूढ़िवादी दिमाग के कारण हुआ है.

गौरतलब है कि यह पहली बार नहीं है कि जब सोफिया विवादों में आई हैं. इससे पहले उन्होंने नन बनने की घोषणा करके सभी को चौंका दिया था, लेकिन सभी को ज्यादा हैरानी तब हुई जब नन बनने के बाद उन्होंने अपनी ब्रा वाली भी एक तस्वीर सोशल मीडिया पर साझा की थी.

First published: 25 September 2016, 9:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी