Home » मनोरंजन » Mukesh ambani get emotional in Isha ambani sangeet ceremony says 'Hum ladki vale hai'
 

बेटी ईशा के संगीत में मुकेश हुए इमोशनल, हाथ जोड़कर कहा- हम लड़की वाले हैं...

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 December 2018, 16:26 IST

बिजनेसमैन मुकेश अंबानी की इकलौती बेटी ईशा अंबानी का उदयपुर में का संगीत का प्रोग्राम हुआ इस दौरान पिता मुकेश थोड़ा इमोशनल दिखें. हर लड़की की शादी में पिता भावुक होता है और सबसे यहीं कहता है कि कोई कमी रह गई हो तो माफी हम लड़की वाले हैं. ऐसा ही कुछ मुकेश ने भी अपने बेटी की शादी में किया. ईशा के संगीत के कार्यक्रम में मुकेश ने हाथ जोड़े हुए सभी से कहा,’हम लड़की वाले हैं.’ इसके बाद मुकेश ने कई बातें करते हुए सभी को आने का धन्यवाद दिया.

 

मुकेश अंबानी ने कहा,”देश-विदेश से आए सभी मेहमानों का हम स्वागत करते हैं.रविवार के अलावा बुधवार को भी हम शादी के सभी काम में बिजी रहेंगे और मैं सभी अपने दोस्तों और मेहमानों से कहना चाहता हूं कि कुछ कमी रह गई हो तो थोड़ा सहन करना पड़ेगा. आखिर,हम लड़की वाले हैं बेटी की शादी है. मेरे इंटरनेशनल दोस्त जो लंबी दूरी तय कर शादी में शामिल होने के लिए आए हैं. यहां आने के लिए मैं सभी का दिल से धन्यवाद देता हूं.”

 

आगे मुकेश एक कहानी सुनाते हुए कहते हैं,”मेरे दो जुड़वां बच्चे हैं आकाश और ईशा. बेटे आकाश को बचपन से ही बैटमैन, सुपरमैन पसंद हैं तो वहीं बेटी ईशा को हिलेरी क्लिंटन पसंद हैं जो कि इस वक्त हमारे बीच मौजूद हैं. विल क्लिंटन और हिलेरी से मेरी दोस्ती पिछले दो दशक से है. हिलेरी आपकी उपस्थिति हमारा सौभाग्य है. आप ईशा और आनंद को अपना आशीर्वाद दें. दो दशक से मेरे अजीज दोस्त सऊदी अरब के खालिद का भी शुक्रिया. खालिद अब सऊदी अरब के खेल मंत्री हैं. इसके अलावा बहुत सारे मेरे अजीज दोस्त और मेहमान हैं. मैं उन सभी का नाम तो नहीं ले सकता मैं सबका तहे दिल से धन्यवाद देता हूं.”

 

वहीं मुकेश अंबानी के समधी अजय पीरामल ने कहा,”नमस्ते सिर्फ एक शुभकामना नहीं हैं, जैसे हैलो और हाय होता है. इसके पीछे से एक गहरा अर्थ है. नमस्ते दो शब्दों से बना है. न मतलब ना, यानी नो और म का मतलब मी. तो नमस्ते का पूरा मतलब हुआ नॉट फॉर मी बट फॉर यू. यानी इट इज लविंग यू, केयरिंग फॉर यू एंड सर्विग यू. यही इस सेरेमनी का सार है . जैसा कि मुकेश ने कहा कि हम तो लड़की वाले हैं. वर्षों से यह परंपरा है कि दुल्हे का परिवार, दोस्त आते हैं और मेहमान नवाजी की पूरी व्यवस्था लड़की वालो की तरफ से की जाती है. हमने इसे बदलने की कोशिश की और मुकेश से निवेदन किया कि हम भी कुछ करना चाहते हैं. लेकिन आपको पता है सबसे सफलतम बिजनसमैन कौन है.”

आगे अजय पीरामल ने कहा,”मुकेश ने मुझे इसका अवसर ही नहीं दिया और सभी यहां की मेजबानी की बधाई दे रहे हैं लेकिन ये सारी व्यवस्थाएं नीता और मुकेश और उनकी टीम ने की है. इसके लिए आभारी हूं संस्कृत में अतिथि देवो भव: होता है, जिसका मतलब है कि मेहमान भगवान समान है.यानी मेहमान की आवभगत हमें भगवान की तरह करनी हैं. सेरेमनी के इंतजाम से मैं कह सकता हूं कि नीता मुकेश ने इसे चरितार्थ किया है. रस्मों की शुरुआत विशेष डांस से करना ठीक होगा और मैं इसके लिए नीता को बुलाना चाहूंगा. नीता ने 15 साल डांस सीखने में बिताए हैं उनका डांस के साथ श्रीकृष्ण की आराधना करना विशेष होगा.”

ये भी पढ़ें-ईशा अंबानी की शादी से आम लोगों को होगा बड़ा फायदा, देश की अर्थव्यवस्था पर भी पड़ेगा ये असर

First published: 10 December 2018, 16:17 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी