Home » मनोरंजन » Mukul says to SC: it is jock of justice
 

सलमान को रिहा करना 'न्याय का मजाक' उड़ाना है: मुकुल रोहतगी

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 February 2016, 20:14 IST

सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को सलमान खान हिट एंड रन केस में महाराष्ट्र सरकार की तरफ से पेश हुए अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने कोर्ट से कहा कि बॉम्‍बे हाईकोर्ट द्वारा सलमान खान को बरी करना दरअसल 'न्याय का मजाक' उड़ाना है. 

बॉम्‍बे हाईकोर्ट ने पिछले साल दिसंबर में निचली अदालत के फैसले को रद्द करते हुए 2002 के हिट एंड रन मामले में बरी कर दिया था. इस फैसले की काफी आलोचना हुई थी.

इसके बाद महाराष्‍ट्र सरकार ने सलमान की रिहाई को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी. महाराष्‍ट्र सरकार की ओर से पक्ष रखते हुए अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने कोर्ट से कहा कि, 'बॉम्‍बे हाईकोर्ट ने दिसंबर में जो फैसला सुनाया वह एकदम ‘उल्‍टा’ था, जबकि निचली अदालत ने सलमान को दोषी ठहराया था.'

मुकुल रोहतगी ने बॉम्‍बे हाईकोर्ट के फैसले के अध्ययन के बाद कोर्ट में दलील देते हुए कहा कि, 'घटना की रात सलमान खान ने शराब पी रखी थी, वह नशे में लैंड क्रूजर चला रहे थे, जिसकी टक्‍कर से फुटपाथ पर सो रहे व्‍यक्ति की जान गई. जबकि उन्‍हें पता था कि नशे में कार चलाना सही नहीं था.'

सरकारी पक्ष की दलील सुनने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई को 12 मार्च तक के लिए टाल दी है. बॉम्‍बे हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ महाराष्ट्र सरकार ने 22 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुमति याचिका दायर की थी.

मालूम हो कि साल 2002 के हिट एंड रन मामले में मुंबई की निचली अदालत ने सलमान खान को 5 साल की सजा सुनाई थी. लेकिन बॉम्‍बे हाईकोर्ट ने सलमान के खिलाफ सबूतों को सही नहीं मानते हुए पूरे मामले से बरी कर दिया था.

First published: 5 February 2016, 20:14 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी