Home » मनोरंजन » naseeruddin shah controversial comment on rajesh khanna
 

नसीरुद्दीन शाह ने राजेश खन्ना को कहा 'औसत दर्जे' का एक्टर, भड़कीं डिंपल और ट्विंकल

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 July 2016, 15:51 IST
(एजेंसी)

बॉलीवुड कलाकार नसीरुद्दीन शाह ने हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के पहले सुपर स्टार राजेश खन्ना को ‘औसत दर्जे’ का एक्टर करार दिया है. शाह के इस विवादित बयान की जमकर आलोचना हो रही है.

नसीरुद्दीन शाह ने अंग्रेजी समाचार पत्र हिंदुस्तान टाइम्स को दिए गए इंटरव्यू में कहा कि 70 के दशक में हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री के स्तर को गिराने में सुपर स्टार राजेश खन्ना का अहम योगदान था. शाह ने इंटरव्यू में कहा था कि आजकल फिल्में इसलिए अच्छी नहीं बन रही हैं, क्योंकि बीते 70 के दशक के हीरो राजेश खन्ना ने उसका स्तर गिरा दिया और वह बेहद साधारण दर्जे के एक्टर थे. 

शाह ने कहा, ‘आज भी बॉलीवुड में कुछ नहीं बदला है. 50 सालों से यह बिल्कुल वैसा ही है, जैसा पहले था. फोटोग्राफी और एडिटिंग को छोड़ दिया जाए तो सब कुछ 70 के वक्त जैसा ही है.’

अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए नसीर ने कहा, "60 के बाद जैसे ही 70 का दशक आया, स्क्रिप्ट, एक्टिंग, म्यूजिक और गीत बिगड़ने लगे. वह रंगीन फिल्मों के शुरूआत का ही दौर था. एक हीरोइन को पर्पल कलर की ड्रेस पहना दी जाती, हीरो को लाल कमीज पहनाकर कश्मीर में शूट करके मूवी बना ली जाती थी. न कोई कहानी होती थी, न कोई एक्टिंग. मुझे लगता है तब के सुपर स्टार राजेश खन्ना को इस मामले में कुछ करना चाहिए था, जो कि उस वक्त के भगवान माने जाते थे."

इसके बाद शाह ने 70 के दशक और राजेश खन्ना पर निशाना साधते हुए कहा, "70 के दशक में औसत दर्जे की फिल्में बनने लगीं. शुरूआती दौर में ही राजेश खन्ना फिल्म इंडस्ट्री में आए और सफल हो गए, लेकिन मेरे ख्याल से राजेश खन्ना जी एक सीमित कलाकार थे या फिर मैं तो यह भी कहता हूं कि वह घटिया एक्टर थे."

शाह का इंटरव्यू छपने के बाद राजेश खन्ना की पत्नी और अभिनेत्री डिंपल कपाड़िया ने विरोध जताते हुए कहा कि, "महोदय अगर आप जीवत लोगों का सम्मान नहीं कर सकते हैं तो मृतक का कीजिए. ‘मध्यम स्तर’ एक ऐसे व्यक्ति पर हमला है जो प्रतिक्रिया नहीं दे सकता."

नसीरुद्दीन के इस इंटरव्यू पर ट्विंकल खन्ना ने ट्वीट किया है, "सर, अगर आप जिंदा शख्स की इज्जत नहीं कर सकते तो मरे हुए शख्स की तो कर ही सकते हैं."

ट्विंकल के इस बयान से निर्देशक करण जौहर ने भी सहमति जताई है. उन्होंने ट्वीट किया है "मैं आपसे सहमत हूं, वरिष्ठता का सम्मान होना चाहिए लेकिन यह टिप्पणी अच्छी नहीं है."

गौरतलब है कि हिंदी सिनेमा के पहले सुपर स्टार राजेश खन्ना ने 'बहारों के सपने’, ‘अराधना’, ‘हाथी मेरे साथी’, ‘अमर प्रेम’ और ‘आप की कसम’ जैसी कई शानदार फिल्में की थीं. लंबी बीमारी के बाद जुलाई 2012 में राजेश खन्ना का कैंसर से निधन हो गया था.

First published: 24 July 2016, 15:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी