Home » मनोरंजन » Om puri: yes, i heart my country, give me punishment
 

ओम पुरी: हां, मुझसे हुआ है शहीदों का अपमान, मुझे सजा दो

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 October 2016, 11:44 IST
(एजेंसी)

फिल्म अभिनेता ओम पुरी द्वारा सेना और शहीदों के बारे में टिप्पणी पर मचे विवाद के बीच उन्होंने खुद ही सजा की पहल की है. ओम पुरी का कहना है कि उनसे अनजाने में सेना और शहीदों का अपमान किया गया, जिससे वे काफी दुखी और शर्मिंदा हैं.

ओम पुरी ने कहा, "मैं माफी का कतई हकदार नहीं हूं, मैंने जो कहा है उसके लिए मुझे सजा मिलनी चाहिए." हालांकि ओम पुरी का यह बयान सामने आने से पहले ही मुंबई, आगरा और लखनऊ में उनके खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज हो चुका है.

पुलिस ने बताया कि शिकायत में आरोप लगाया गया है कि बहस के दौरान पुरी ने कथित तौर पर कहा, "सैनिकों को सेना में शामिल होने के लिए किसने कहा था? किसने उन्हें हथियार उठाने के लिए कहा था?"

गौरतलब है कि हिंदी समाचार चैनल आईबीएन 7 के एक कार्यक्रम में अभिनेता ओम पुरी ने कथित तौर पर सेना और शहीदों का अपमान किया था.

उरी हमले के बाद 'इंडियन मोशन पिक्चर्स प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन्स' (आईएमपीपीए) द्वारा पाकिस्तानी कलाकारों पर भारतीय फिल्मों में काम करने पर अनिश्चितकालीन प्रतिबंध लगाए जाने के बारे में चल रही बहस के दौरान ओम पुरी ने यह विवादित टिप्पणी की.

बहस के दौरान 65 साल के अभिनेता ने कहा, "जब सरकार कार्रवाई कर रही है, तो हम सबको शांत रहना चाहिए. हम यहां काम कर रहे पाकिस्तानी कलाकारों को वापस भेजें या यहीं रहने दे, यह शायद ही मायने रखता है. मैं छह बार पाकिस्तान गया हूं और वहां हर तरह के लोगों से मिला हूं."

उन्होंने कहा, "वहां के लोग हमेशा मुझसे प्यार और गर्मजोशी से मिले. पाकिस्तानी कलाकार जिन फिल्मों में काम कर रहे हैं, अगर उन्हें वे बीच में ही छोड़ दें तो भारत में लोगों (फिल्मकारों) को नुकसान उठाना होगा. कलाकार किसी गैरकानूनी तरीके से यहां नहीं आए हैं. वे वैध वीजा पर यहां हैं. लेकिन अगर सरकार उन्हें देश छोड़ने को कहे तो वह अलग है."

First published: 5 October 2016, 11:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी