Home » मनोरंजन » Padmavati: before Deepika Padukone many actresses have played the role of Rani Padmini bollywood news
 

भंसाली से पहले भी बड़े पर्दे पर दिखाया जा चुका है 'पद्मावती' का जौहर

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 November 2017, 15:39 IST

दीपिका पादुकोण की फिल्म पद्मावती पर रिलीज से पहले विरोध प्रदर्शन जारी है. करणी सेना के अलावा बहुत से संगठन इस फिल्म पर रोक लगाने की मांग कर रहे हैं. कर्इ राज घराने भी फिल्म के सीन आैर गाने में किए गए पारंपरिक डांस घूमर गाने पर आपत्ति जता चुके हैं.

जानकारी के मुताबिक संजय लीला भंसाली की यह फिल्म चित्तौड़ की महारानी पद्मिनी पर आधारित है. फिल्म पर चल रहे विवाद के बीच पूर्व सेंसर बोर्ड अध्यक्ष पहलाज निहलानी ने कहा कि उन्होंने भंसाली का समर्थन किया और फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने की मांग कर रहे लोगों को फटकार लगाई. उन्होंने कहा,  "पहले जब पद्मावती पर फिल्में बनीं तब लोगों ने विरोध क्यों नहीं किया? क्या उससे राजपूतों का संबंध नहीं था?"

कब बनी हैं फिल्में:

1963 में पद्मावती पर तमिल में फिल्म बनी थी. इस फिल्म का शीर्षक था- चित्तौड़ रानी पद्मिनी. इस फिल्म में उस दौर के बड़े सितारों ने काम किया था. फिल्म में शिवाजी गणेशन ने महाराजा रतन सिंह का और एमएन नांबियर ने अलाउद्दीन खिलजी का किरदार निभाया था. यह फिल्म फ्लॉप रही थी लेकिन इसे आज भी वैजयंतीमाला के डांस की वजह से याद किया जाता है.

तमिल फिल्म के एक साल बाद 1964 में हिंदी में महारानी पद्मिनी के नाम से फिल्म बनी थी. जिसमें अनीता गुहा ने महारानी पद्मिनी का, जयराज ने महाराजा रतन सिंह का और सज्जन ने खिलजी का रोल निभाया था.

फिल्म को आज भी मोहम्मद रफी और आशा भोंसले के गाए गीतों की वजह से याद किया जाता है. साल 1930 में एक मूक बंगाली फिल्म रिलीज हुई थी. जिसका शीर्षक था- कामोनर अगुनत्र, इसे दिनेश रंजन दास और धीरेंद्रनाथ गांगुली ने डायरेक्ट किया था. यह फिल्म भी चित्तौड़ की महारानी पर आधारित थी. 

इसके अलावा श्याम बेनेगल के निर्देशन में बने धारावाहिक भारत एक खोज में भी रानी पद्मिनी पर एक एपिसोड दिखाया गया था. साल 2009 में चित्तौड़ की रानी पद्मिनी का जौहर नाम से शो बन चुका है. लेकिन किसी भी शो और फिल्म पर इस तरह का बवाल नहीं हुआ. जितना भंसाली की फिल्म पर हो रहा है.  

First published: 15 November 2017, 15:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी