Home » मनोरंजन » phullu movie manish sisodia surprised on the adult certificate
 

सवालों के घेरे में सेंसर बोर्ड, महिलाआें को जागरुक करने वाली फिल्म को बताया 'Adult'

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 June 2017, 13:32 IST

कुछ दिनों पहले फिल्‍ममेकर प्रकाश झा की फिल्‍म 'लिप्‍स्टिक अंडर माई बुर्का' को भारत में बैन करने के अपने फैसले के चलते सेंसर बोर्ड सु‍र्खियों में आया था. अब सेंसर बोर्ड ने महिलाओं की पीरियड्स् की समस्‍या पर बनी फिल्‍म 'फुल्‍लू' को 'ए' सर्टिफिकेट दे दिया है.

इसे लेकर चारों आेर से सेंसर बोर्ड का विरोध हो रहा है. सेसर बोर्ड द्वारा इस फिल्‍म को 'ए' सर्टिफ‍िकेट दिए जाने पर सोशल मीडिया में खासा बवाल मच गया है. ट्विटर पर कई लोगों ने इस बात पर नाराजगी जतायी है कि इस फिल्‍म को आखिर 'ए' सर्टिफिकेट किसी आधार पर दिया गया है.

फिल्म 'फुल्लू' की स्पेशल स्क्रीनिंग के बाद दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया हैरान थे कि आखिर सेंसर बोर्ड ने किस आधार पर 'फुल्लू' को 'ए' सर्टिफिकेट दिया है. उन्होंने कहा, "सेंसर बोर्ड ने एक ऐसी फिल्म को 'ए' सर्टिफिकेट दिया है, जिसका मकसद दर्शकों का सिर्फ मनोरंजन करना नहीं, बल्कि देश की महिलाओं को अपनी हेल्थ के प्रति जागृत करना है."

सेंसर बोर्ड ने अवॉर्ड विनिंग फिल्म 'लिपस्टिक अंडर माई बुर्का' को प्रमाणपत्र देने से इनकार कर दिया था और इसकी वजह बताते हुए सेंसर बोर्ड ने लिखा कि यह फिल्‍म कुछ ज्यादा ही महिला केंद्रित है. फिल्म के यौन दृश्यों और भाषा पर भी बोर्ड ने आपत्ति जताई थी. हाल ही में इस फिल्‍म को भी 'ए' सर्टिफिकेट देकर भारत में रिलीज किए जाने की इजाजत दी गई है.

First published: 15 June 2017, 13:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी