Home » मनोरंजन » Piyush mishra on incresed number of broken marriages
 

शादियां टूटने की संख्या बढ़ने पर बॉलीवुड के इस दिग्गज ने कहा, ‘आज की पीढ़ी...’

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 November 2019, 8:40 IST

अभिनेता व कवि पीयूष मिश्रा का मानना है कि आज की पीढ़ी जीवन में तालमेल बैठाने के लिए तैयार नहीं है, जिससे टूटी हुई शादियों की संख्या बढ़ रही है. उन्होंने कहा, "आज की पीढ़ी तालमेल बैठाने के लिए तैयार नहीं है. उन्हें लगता है कि शादी सिर्फ एक सामान्य बात है. लेकिन शादी पूरी तरह से सामंजस्य पर आधारित है. शादी एक-दूसरे के लिए समझौता करने और एक-दूसरे के साथ बसने के बारे में है.

आजकल शादी को महज प्रेम-प्रसंग के तौर पर माना जाता है, जहां शादी करना और तलाक लेना सभी के लिए आसान है. लेकिन एक शादी में यह समायोजित करना महत्वपूर्ण है कि आप एक-दूसरे से सहमत हैं या नहीं."

 

 

मिश्रा की नवीनतम लघु फिल्म 'कतरन' एक जोड़े के बिगड़ते वैवाहिक रिश्ते पर प्रकाश डालती है. यह कहानी एक बुजुर्ग दंपति के ढहते रिश्ते पर केंद्रित है. वे शादी के 36 साल बाद इस रिश्ते को खत्म करने का फैसला लेते हैं, लेकिन साथ ही यह भी महसूस करते हैं कि उनके घर में अभी भी प्यार के कुछ ऐसे छोटे पहलू हैं जो उन्हें एक साथ बांधकर रख सकते हैं.

'कतरन' की पटकथा प्रेम सिंह ने लिखी है और वही इसका निर्देशन भी कर रहे हैं. इसमें अलका अमीन भी हैं. इस लघु फिल्म का निर्माण शशि प्रकाश चोपड़ा द्वारा किया गया है. यह रॉयल स्टैग बैरल सेलेक्ट लार्ज शॉर्ट फिल्म्स द्वारा रिलीज की गई है और इनके यूट्यूब चैनल पर उपलब्ध है.

 

First published: 9 November 2019, 16:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी