Home » मनोरंजन » Sensor Board rejected Anurag Kashyap's another movie 'Haramkhor'
 

नवाजुद्दीन सिद्दीकी की फिल्म को सेंसर बोर्ड ने बनाया 'उड़ता हरामखोर'

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:49 IST
(यूट्यूब)

लगता है सेंसर बोर्ड और अनुराग कश्यप के बीच  36 का आंकड़ा चल रहा है. 'उड़ता पंजाब' के बाद अब अनुराग कश्यप के प्रोडक्शन वाली एक ओर फिल्म को लेकर सेंसर से विवाद छिड़ चुका है. कहा जा रहा है कि सेंसर बोर्ड ने नवाजुद्दीन सिद्दीकी अभिनीत फिल्म 'हरामखोर' को 'उड़ता हरामखोर' बना दिया है. 

सेंसर बोर्ड ने फिल्म की थीम पर ही आपत्ति जताते हुए इसको प्रमाणपत्र देने से मना कर दिया गया है. शिक्षक और छात्रा के रोमांस पर आधारित इस फिल्म को बोर्ड से हरी झंडी न मिलने के बाद निर्माताओं ने इस मामले को फिल्म सर्टिफिकेशन अपीलेट ट्रिब्यूनल के पास ले जाने का मन बना लिया है.

बच्चों द्वारा अपराध करने समेत अन्य बातें इस फिल्म को किसी प्रमाणपत्र के लायक नहीं बनातीं

बताया जा रहा है कि सेंसर बोर्ड ने फिल्म के कथानक पर ऐतराज जताते हुए कहा है कि शिक्षक समाज का सम्मानित व्यक्ति होता है. जबकि फिल्म में शिक्षक और एक किशोरी (छात्रा) के बीच अवैध संबंधों को दर्शाया गया है. 

उड़ता पंजाब से पंजाब का कम, हिंदी सिनेमा का सच ज्यादा उजागर होता है

इतना ही नहीं फिल्म में बच्चों को तमाम गंदे डायलॉग्स बोलते दिखाया गया है. इनका शारीरिक हावभाव भी आपत्तिजनक है. बच्चों द्वारा अपराध करने समेत अन्य बातें इस फिल्म को किसी प्रमाणपत्र के लायक नहीं बनातीं.

वहीं, मीडिया से बातचीत में अनुराग कश्यप ने यह स्वीकार किया है कि सेंसर बोर्ड द्वारा उनकी फिल्म को प्रमाणपत्र देने से इनकार कर दिया गया है. निर्माताओं ने इसके खिलाफ ट्रिब्यूनल में अपील करने का मन बनाया है.

First published: 19 June 2016, 7:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी