Home » मनोरंजन » Shah Rukh Khan's Raees is in new controversy, Gangster Abdul Latif's son demands rupees101 crore
 

'रईस' शाहरुख से गैंगस्टर के बेटे ने मांगे 101 करोड़

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 April 2016, 1:15 IST

ऐसा लगता है कि बॉलीवुड के किंग खान के दिन अच्छे नहीं चल रहे हैं. पहले उनकी फिल्म फैन बॉक्स ऑफिस पर उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर सकी. जंगल बुक के आगे शाहरुख की फैन पिछड़ती दिखी.

शाहरुख के लिए नई मुश्किल उनकी आने वाली फिल्म लेकर आई है. अदालत से मिले एक नोटिस ने उनकी नींद हराम कर दी है. किंग खान के लिए नई मुसीबत का सबब बनी है उनकी फिल्म रईस, जिसकी अभी रिलीज की तारीख तय नहीं हो पाई है.

पहले शाहरुख ईद के मौके पर रईस को रिलीज करना चाहते थे, लेकिन सलमान की सुल्तान रईस की राह में रोड़ा बन गई. बॉलीवुड में दोनों के क्लैश की चर्चा थी. 

पढ़ें: शाहरुख खान के विरोध में एबीवीपी का प्रदर्शन

हालांकि बताया जा रहा है कि शाहरुख ने सलमान को ईदी देते हुए फिल्म की रिलीज 2017 के लिए टाल दी. इस बीच जिस गैंगस्टर की जिंदगी पर रईस फिल्म बनी है, उस गैंगस्टर के बेटे ने किंग खान के लिए मुसीबत खड़ी कर दी है.

बेटे ने किया मानहानि का दावा

अहमदाबाद की एक स्थानीय अदालत में गैंगस्टर अब्दुल लतीफ के बेटे ने रईस फिल्म को लेकर शाहरुख और उनकी कंपनी के खिलाफ याचिका दाखिल करते हुए 101 करोड़ रुपये की मानहानि का दावा ठोका है.

याचिका में लतीफ के बेटे ने शाहरुख की कंपनी पर अपने पिता को बदनाम करने का आरोप लगाया है. अहमदाबाद की दीवानी अदालत ने इस मामले में शाहरुख की प्रोडक्शन कंपनी रेड चिलीज एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड समेत सह निर्माताओं को नोटिस जारी किया है.

पढ़ें: सनी लियोन की ख्वाहिश पूरी की शाहरुख खान ने

उनसे 11 मई तक जवाब देने को कहा गया है. माना जा रहा है कि फिल्म लतीफ की जिंदगी पर आधारित है. अब्दुल लतीफ के बेटे मुश्ताक शेख ने फिल्म की रिलीज और इसकी प्रचार सामग्री पर रोक की मांग की है.

बुरी छवि पेश करने का आरोप


याचिका में कहा गया है कि फिल्म के दूसरे हिस्से में लतीफ की बहुत बुरी छवि पेश की गई है. जिससे उनके परिवार की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंच सकता है.

मुश्ताक का दावा है कि जब फिल्म की स्क्रिप्ट लिखी गई, तो उसके परिवार के सदस्यों से संपर्क किया गया था. फिल्म के निर्माताओं ने प्रचार के दौरान भी कहा था कि रईस उनके पिता अब्दुल लतीफ के जीवन पर आधारित है.

फिल्म रईस में शाहरुख के साथ नवाजुद्दीन सिद्दीकी और पाकिस्तान की अभिनेत्री माहिरा खान ने किरदार निभाया है.

क्या है अब्दुल लतीफ का अतीत ?


अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक मुश्ताक के वकील ने बताया है कि गैंगस्टर अब्दुल लतीफ के खिलाफ कुल 97 केस दर्ज थे. इनमें शराब की तस्करी के अलावा टाडा के तहत कई गंभीर मामले भी शामिल हैं.

मुश्ताक के वकील हर्ष गज्जर का कहना है कि कि लतीफ ने कभी भी शराब तस्करी के लिए महिलाओं का इस्तेमाल नहीं किया. उनका आरोप है कि रईस में लतीफ की गलत छवि पेश की जा रही है.

पढ़ें: गांधी के फैन शाहरुख बोले- 'आपका प्रशंसक होना मेरे लिए गर्व की बात है' 

80 के दशक में अब्दुल लतीफ गुजरात के पोपटियावाड़ में शराब तस्करी के अवैध कारोबार का सरगना था. जल्द ही वो इलाके का डॉन बन गया. ऐसा कहा जाता है कि जवानी के दिनों में वो जुए के अड्डों पर काम करने के अलावा शराब की सप्लाई करता था.

यही वजह थी कि जल्द ही वो शराब तस्करी के काले कारोबार में उतर आया. यही नहीं लतीफ हवाला, जमीन के अवैध धंधे और कॉन्ट्रैक्ट किलिंग में भी शामिल रहा.

अब्दुल लतीफ  पर आरोप लगा कि वो गुजरात के पश्चिमी तट से लगे गांवों के रास्ते देश में हथियारों की तस्करी को भी अंजाम देता था.

माफिया डॉन दाऊद इब्राहिम से उसकी करीबियों की चर्चा रही. यही वजह थी कि 1993 के मुंबई सीरियल बम धमाकों में भी लतीफ के शामिल होने का अंदेशा जताया गया.

लतीफ की करतूतों के साथ ही उसकी कथित रॉबिन हुड छवि के किस्से भी चर्चा में रहे. दावा किया गया कि वो गरीब और कमजोर तबके के मुस्लिम युवकों को रोजगार दिलाने में मदद करता था.

1997 में लतीफ का एनकाउंटर


1997 में नरोदा पाटिया इलाके में पुलिस के साथ मुठभेड़ में लतीफ मारा गया. आरोप था कि लतीफ साबरमती जेल से भागने की कोशिश कर रहा था, जहां वो 1995 से कैद था.

वैसे रईस किसी माफिया डॉन के जीवन पर बनी पहली फिल्म नहीं है. इससे पहले भी मुंबई के डॉन हाजी मस्तान और दाऊद इब्राहिम पर आधारित वंस अपॉन ए टाइम इन मुंबई फिल्म बनी थी. जिसमें अजय देवगन और इमरान हाशमी ने किरदार निभाया था.

पढ़ें: शाहरुख खान: मैं अक्सर सोचता हूं, काश मैं एक औरत होता...

हाजी मस्तान के परिजनों ने भी इस मामले में मानहानि याचिका दाखिल की थी. वहीं निर्देशक राम गोपाल वर्मा ने 2002 में दाऊद इब्राहिम और छोटा राजन पर आधारित कंपनी फिल्म बनाई थी.  

निर्देशक अनुराग बासु ने 2006 में माफिया डॉन अबु सलेम की जिंदगी पर आधारित गैंगस्टर फिल्म बनाई थी. जिसमें शाइनी आहूजा, कंगना रनौत और इमरान हाशमी ने मुख्य भूमिका अदा की थी. 

इसके अलावा 2012 में अनुराग बासु की फिल्म गैंग्स ऑफ वासेपुर (पार्ट-2 भी) कोयला माफिया की पृष्ठभूमि पर आधारित थी. जिसमें तिग्मांशु धूलिया, मनोज बाजपेयी और नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने किरदार निभाए थे.

First published: 30 April 2016, 1:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी