Home » मनोरंजन » Shyam Benegal on Udta Punjab: You cannot think that everything will fit in the same set of rules, films are not made in a factory
 

'उड़ता पंजाब' पर बोले बेनेगल- फैक्ट्री में नहीं बनती हैं फिल्में

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 June 2016, 14:30 IST
(फाइल फोटो)

फिल्म उड़ता पंजाब की रिलीज से पहले घमासान के बीच केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) के सुधार पैनल के प्रमुख और दिग्गज फिल्मकार श्याम बेनेगल ने सेंसर बोर्ड पर निशाना साधा है. बेनेगल को इसी साल पैनल का प्रमुख बनाया गया था.

श्याम बेनेगल ने कहा, "उड़ता पंजाब एक अहम फिल्म है. यह एक बहुत बड़ी समस्या को लोगों के सामने रख रही है. आप यह नहीं सोच सकते कि हर चीज नियमों के एक ढांचे के मुताबिक फिट हो जाए. फिल्में फैक्ट्री में नहीं बनाई जाती हैं."

'बेहतरीन बनी है उड़ता पंजाब'

केंद्र सरकार द्वारा नियुक्त सीबीएफसी के सुधार पैनल के प्रमुख श्याम बेनेगल ने बुधवार को विवादों से घिरी फिल्म 'उड़ता पंजाब' देखी. बेनेगल ने शाहिद कपूर अभिनीत फिल्म की तारीफ करते हुए कहा कि इसे काफी बेहतरीन तरीके से बनाया गया है.

पढ़ें: 'उड़ता पंजाब' के समर्थन में उतरा बॉलीवुड

सेंसर बोर्ड द्वारा फिल्म में 89 कट लगाए जाने और इस वजह से इसके सह-निर्माता अनुराग कश्यप और सीबीएफसी के बीच जारी विवाद के तहत बेनेगल के लिए 'उड़ता पंजाब' की विशेष स्क्रीनिंग रखी गई.

फिल्म की स्क्रीनिंग के बाद श्याम बेनेगल ने मुंबई में मीडिया को बताया, "अगर आप तकनीकी रूप से मुझसे पूछें, तो यह काफी बेहतरीन तरीके से बनाई गई फिल्म है." 

सुधार पैनल प्रमुख हैं बेनेगल

बेनेगल की अध्यक्षता वाले सुधार पैनल में राकेश ओमप्रकाश मेहरा, पीयूष पांडे, भावना सोमय्या और नीना लाथ गुप्ता सदस्य के रूप में शामिल हैं. वहीं, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के संयुक्त सचिव (फिल्म्स) संजय मूर्ति सदस्य-संयोजक हैं.

राकेश ओमप्रकाश मेहरा ने बताया कि समिति की सिफारिश थी कि सेंसर बोर्ड की 'कैंची' को समाप्त कर दिया जाना चाहिए. समिति की सिफारिशों को अप्रैल में सरकार को सौंपा गया था.

पढ़ें: 'उड़ता पंजाब' का विवाद पहुंचा हाईकोर्ट

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने एक जनवरी 2016 को केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) द्वारा फिल्मों के प्रमाणन हेतु व्यापक दिशा-निर्देशों की सिफारिश के लिए श्याम बेनेगल की अध्यक्षता में एक विशेषज्ञ समिति का गठन किया था.

First published: 9 June 2016, 14:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी