Home » मनोरंजन » Telugu film critic Kathi Mahesh banished from Hyderabad for six months after For remarks on Ramayana and ram Sita
 

तेलंगाना: फिल्म क्रिटिक ने रामायण पर किया कमेंट तो पुलिस ने हैदराबाद से किया तड़ीपार

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 July 2018, 13:44 IST

'बिग बॉस' के एक्स कंटेस्टेंट और विवादिक फिल्म क्रिटिक काठी महेश एक फिर विवादों में हैं. इस बार विवाद कुछ ऐसा है कि उन्हें तेलंगाना पुलिस ने हैदराबाद से ही बाहर कर दिया है. तेलंगाना पुलिस ने काठी महेश को 6 महीने के लिए सोमवार 9 जुलाई को हैदराबाद से बाहर कर दिया है.

इस बार काठी महेश पर भगवान राम-सीता और रामायण पर कथित रूप से अपमानजनक टिप्पणी और धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप है. ने ये कमेंट एक टीवी शो के दौरान किया. जब वह एक हिंदु धर्मगुरू से बहस कर रहे थे. इसके बाद पुलिस ने हैदाराबाद निकाला दे दिया.

तेलंगाना के DGP एम. महेंद्र रेड्डी ने काठी महेश के हैदराबाद से बाहर निकालने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, "अगर उन्होंने हैदराबाद में एंट्री की तो इसे क्राइम समझा जाएगा. उनके खिलाफ अलग से केस दर्ज किया जाएगा. ऐसा करने पर उन्हें 3 साल की जेल भी हो सकती है. काठी महेश को आंध्र प्रदेश के चित्तूर में उनके पैतृक स्थान पर छोड़ा जाएगा."

ये भी पढ़ेंः रणबीर की 'संजू' ने 100, 200 या 300 नहीं बल्कि कमा लिए हैं रिकॉर्ड तोड़ इतने करोड़ रुपये

डीजीपी ने बताया कि तेलंगाना पुलिस ने ये कदम कानून व्यवस्था की किसी भी समस्या से बचने के लिए उठाया है, क्योंकि हिंदू धार्मिक नेताओं ने सोमवार को महेश काठी के खिलाफ प्रदर्शन करने की योजना बनाई थी. इसके बाद महेश काठी को 6 महीने के लिए हैदराबाद से बाहर रहने को कहा है.

आपको बता दें, इससे पहले तेलंगाना पुलिस ने स्वामी परिपूर्णानंदा को हैदराबाद में नजरबंद कर दिया था क्योंकि वे धार्मिक चैतन्य यात्रा शुरू करने वाले थे. पुलिस प्रमुख ने कहा कि महेश काठी को अभी केवल हैदराबाद से बाहर किया गया है. उन्हें राज्य से बाहर करना है या नहीं, इस पर फैसला बाद में किया जाएगा.

ये भी पढ़ेंः फिल्म 'प्रस्थानम' का पोस्टर आउट, संजय दत्त बोले- हक़ दोगे तो रामायण शुरू होगी, छीनोगे तो...

दरअसल, एक हफ्ते पहले काठी महेश ने टीवी शो में डिबेट के दौरान भगवान राम-सीता के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की थी, जिसके बाद महेश काठी को 2 जुलाई को पुलिस ने गिरफ्तार किया था. विभिन्न संगठनों से मिली शिकायतों पर उनके खिलाफ 3 मामले दर्ज किए गए.

First published: 10 July 2018, 13:44 IST
 
अगली कहानी