Home » मनोरंजन » top dialogue of bollywood movies 2016 bollywood news
 

साल 2016 में बाॅलीवुड फिल्मों के टाॅप 10 डायलाॅग

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 December 2016, 8:18 IST

2016  बेशक बेहतरीन फिल्मों का साल रहा है लेकिन एक फिल्म अपने बेहतरीन डाॅयलॉग्स की वजह से पावरफुल बनती है. इस बार भी बाॅलीवड की कर्इ फिल्मों में एेसे डायलाॅग थे जो लोगों की जुबान पर चढ़ गए. इसमें रोमांस का तड़का भी भरपूर था. ये हैं 2016 के टाॅप 10 बेस्ट डायलाॅग...

1. पिंक (No Means No): महानायक अमिताभ बच्चन ने जब कोर्ट के भीतर खड़े होकर 'No Means No' कहा तो दर्शकों की तालियों की गड़गड़ाहट थमने का नाम ही नहीं ले रही थी.

File photo

2.  'कोई तुम्हें तब तक नहीं हरा सकता जब तक कि तुम खुद से ना हार जाओ': सुल्तान

3. 'इकतरफा प्यार की ताकत ही कुछ और होती है, औरों के रिश्तों की तरह ये दो लोगों में नहीं बंटती': ऐ दिल है मुश्किल

file photo

4. अपने बीते हुए कल (पास्ट) के द्वारा वर्तमान (प्रेजेंट) को ब्लैकमेल मत होने दो, जिससे कि फ्यूचर बर्बाद हो जाए':  डियर जिंदगी  

file photo

5. खेल खेल में खेल खेल के, खेल खेलिए आ जाएगा. हार जीत से, हार जीत के, जीतना हारना सीखिएगा : वजीर

6. जिंदगी आैर शतरंज में यही तो फर्क है, जिंदगी में दूसरा मौका मिलता नहीं, यहां शतरंज में मिल जाता है: वजीर

7. खुद से आजादी तो सिर्फ मौत दे सकती है या फिर इश्क:  फितूर

file photo

8. मशाल एक हो या एक लाख उसे जलानेे के लिए बस एक चिंगारी की जरूरत है: सरबजीत

9. मेरी दुनिया तुम्हारी दुनिया से बड़ी नहीं है. एक क्रिकेट के किट बैग के साइज की है: एम एस धोनी, द अनटोल्ड स्टोरी

file photo

10. 'म्हारी छोरियां छोरों से कम हैं के': दंगल 

First published: 28 December 2016, 8:18 IST
 
अगली कहानी