Home » मनोरंजन » Veena Malik's nudes are in the past. She's a devout Muslim now
 

कभी विवादों की मलिका रही वीना मलिक अब बनेंगी एक दीनी मुसलमान

लमट र हसन | Updated on: 12 May 2016, 8:52 IST

कुछ बेनाम सी बाॅलीवुड फिल्मों में काम करने वाली एक पाकिस्तानी अभिनेत्री जो वर्ष 2010 में एक मशहूर टीवी रियलटी शो बिगबाॅस में प्रतिभागी के रूप में शामिल होकर कुछ मशहूर हुईं. इसके अलावा उन्होंने भारतीय पुरुषों के लिये प्रकाशित होने वाली एक पत्रिका के कवर पर नग्न चित्र छपवाकर सुर्खियां बटोरी. इस चित्र में उनके हाथ पर बना एक आईएसआई का टैटू काफी विवादों में रहा.

पत्रिका के कवर पर अपनी नग्न तस्वीर देखने के बाद वीना मलिक ने दावा किया था कि यह तस्वीर उनकी नहीं है बल्कि इसे छेड़छाड़ (माॅर्फ) करके तैयार किया गया है. उस समय के उनके क्रिकेटर प्रेमी मोहम्मद आसिफ, जो स्वयं ही मैच फिक्सिंग कांड में फंसे हुए थे, ने भी इस तस्वीर को फर्जी बताकर उनके दावे का समर्थन किया. इस विवाद के बाद उनके पिता मलिक मोहम्मद असलम में उन्हें अपनाने से इंकार दिया.

veena-malik-embed1.jpg

पूरा पाकिस्तान उनके इस कारनामे को लेकर काफी गुस्से में था. धार्मिक कट्टरपंथी तो और भी अधिक नाराज थे. लेकिन वीना मलिक ने उन्हें ‘‘बेगैरत’’ और ‘‘अनैतिक’’ कहने वालों का खुलकर सामना किया और वह भी लाइव टीवी पर.

उन्होंने बेहद साफ शब्दों में मुफ्ती मोहम्मद कावी से कहा कि अगर उनका टीवी या फिल्मों में काम करना गलत है या फिर उन्होंने जो कुछ पहना वह अनैतिक है तो फिर मुफ्ती का उनपर टिप्पणी करना भी गलत है क्योंकि इस्लाम में अपनी रिश्तेदारी की महिला के अलावा किसी गैर औरत पर दूसरी नजर डालना भी हराम बताया गया है.

वीना मलिक मशहूर टीवी रियलटी शो बिगबाॅस में प्रतिभागी के रूप में शामिल होकर मशहूर हुईं

उस समय वीना उदारपंथियों की आंखों का तारा थीं. वीना ने बिगबाॅस में भाग लेने या फिर फिल्मों में काम करने को लेकर माफी मांगने से साफ इंकार कर दिया था. उन्होंने अपनी बात पर अडिग रहने का जज्बा और हौसला दिखाया था और कहा था कि ‘‘मैं ऐसी ही हूं.’’ खैर यह सब 2012 की बातें हैं.

चार साल बाद अब दूसरे रूप में

veena-malik-embed2-276148.jpg

अस्मित पटेल के साथ वीना मलिक

चार वर्ष बाद अब वीना मलिक एक बार फिर टीवी शो में अपना जलवा बिखेरने आई हैं. और इस बार दोबारा एक मुफ्ती साहब के साथ - जो उनका पक्ष ले रहे हैं और उनके अतीत को भूलने की ताकीद करते हुए लोगों से उन्हें माफ करने की अपील कर रहे हैं.  इस शो में वीना अपनी छवि के विपरीत सिर से पांव तक ढकी बीज कलर की एक ड्रेस में दिख रही हैं.

जामिया बिनोरिया मदरसा के कुलपति मुफ्ती नईम का कहना है कि वीना अब खुद को इस्लाम के अध्ययन में समर्पित करना चाहती हैं. साथ ही, उनका इरादा अपने बच्चों को भी इस्लामी तालीम दिलवाने का है.

अब वीना मलिक ने उसी धार्मिक कट्टरपन को गले लगा लिया है जिससे वे कभी लोहा लेती थीं

वीना ने भी खुद को दुपट्टे के पीछे रखकर खुलकर अपनी बात रखी, लेकिन खुदा का शुक्र है कि अधिक लजाते हुए नहीं. उन्होंने बताया कि वे कैसे बीते दो वर्षों से अमेरिका में रहकर दोबारा मुसलमान धर्म को अपनाने वाले गायक-अभिनेता जुनैद जमशेद द्वारा सुझाये गए इस्लामिक साहित्य का अध्ययन कर रही हैं.

बीते समय पर नजर दौड़ाते हुए वे उस समय को याद करती हैं जब सारा जहां उनके कदमो में था लेकिन फिर भी वे भीतर से खुश नहीं थीं. और फिर उसके बाद ‘‘जमशेद भाई’’ ने उन्हें सही रास्ते पर चलने के लिये प्रोत्साहित किया.

'दाल में कुछ काला है'

veena-malik-embed3-.jpg

पुरुषों की पत्रिका के लिये नग्न तस्वीर खिंचवाने के कई महीनों बाद वीना वर्ष 2012 में टीवी पर एक बार फिर एक रमजान विशेष शो में दिखाई दीं.

स्वंय को धार्मिक अवतार में ढालने का पूरा प्रयास करती वीना के टीवी प्रोमो बेहद कम समय में ही वायरल हो गए. अपने सिर को एक नीले रंग के दुपट्टे से ढककर और अपने गालों पर एक आंसू गिराकर वीना ने रुंधे हंए गले से ‘‘अस्तगफार’’ कहा.

शशि कपूर की आत्मकथा: बॉलीवुड का पहला अंतरराष्ट्रीय स्टार

वे रातोंरात लोगों के मजाक का साधन बन गईं. अधिकतर लोगों ने उनके इस बर्ताव को अपनी आने वाली बाॅलीवुड फिल्म ‘‘दाल में कुछ काला है’’ के लिये लोकप्रियता पाने का तरीका माना.

इस घटना के तुरंत बाद वीना ने वापस बाॅलीवुड का रुख किया और कुछ अन्य फिल्मों में काम करने के अलावा अपनी कामुक भूमिकाओं के लिये विख्यात रहीं सिल्क स्मिता की भूमिका भी निभाई.

लगभग इसी समय उन्होंने असद बशीर खान खट्टक से शादी की जिसे बाद में ईशनिंदा के आरोप में देश की आतंकवाद विरोधी अदालत ने 26 वर्ष के कारावास की सजा सुनाई.

वीना मलिक का इरादा अपने बच्चों को भी इस्लामी तालीम दिलवाने का है: मुफ्ती नईम

धार्मिक कट्टरपंथ को गलत तरीके से इस्तेमाल करने के लिये जानी जाने वाली वीना एक बार फिर तब विवादों में घिर गईं जब वे पैगंबर मोहम्मद की बेटी की शादी को लेकर बने एक भक्ति गीत पर अपने पति के साथ एक टीवी शो में नाचती दिखीं.

वीना भागकर दुबई पहुंच गईं और वहां से अमेरिका. उन्हें पाकिस्तान वापस आने में डर लगा लेकिन वे इस दौरान अपनी जन्मभूमि को बहुत याद करती रहीं. मुफ्ती ने उनके मनोभावों को अपने शब्दों में कहा, ‘‘मैं बीते 30 वर्षों से अमेरिका में रह रहा हूं लेकिन कुछ भी अपने देश जैसा नहीं हो सकता.... वह दो वर्ष तक पाकिस्तान नहीं आ सकीं. उन्हें बताया गया कि पाकिस्तान की सरजमीं पर पांव रखते ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा...’’

‘‘वे अपनी बीती हुई जिंदगी के लिये माफी मांग चुकी हैं...... अब उन्हें माफ कर दिया जाना चाहिये.’’

मुफ्ती ने दो उदाहरण देकर अपनी बात साबित करने का प्रयास किया कि किस तरह लोगों का मन बदल सकता है. अमेरिका की वे बेहद बिगड़ी हुई लड़कियां जिन्हें उनके मदरसे में भेजा गया था लेकिन अब वे सुधर चुकी हैं और अब  अच्छे काम कर रही हैं. उन्होंने दूसरा उदाहरण दिया अपने समय की मशहूर गायिका नूरजहां की बेटी का जिन्होंने गायिकी करने की जगह ‘‘दीनी’’ तालीम देने का फैसला लिया.

पढ़ें: सक्सेस के लिए क्रेजी दुनिया में अध्ययन सुमन होना

हालांकि मुफ्ती नईम महिला अधिकारों की वकालत करने के लिये नहीं जाने जाते हैं. उन्होंने आॅस्कर विजेता फिल्म निर्माता ओबैद चिनाॅय के लिये ‘‘फाहिशा औरत’’ जैसे शब्दों का प्रयोग किया जो एक महिला के चरित्र और नैतिकता के लिये अपशब्दों के रूप में प्रयोग किया जाता है.

जब वीना से पूछा गया कि क्या वे अपनी साथी मशहूर हस्तियों को अपनी राह पर चलने के लिये प्रेरित करेंगी तो उन्होंने चालाकी से जवाब देते हुए कहा कि वे अभी पूर्णता पाने से बहुत दूर हैं और अगर वे कभी उस स्तर पर पहुंचने में कामयाब रहीं तो इंशाअल्लाह ऐसा जरूर करेंगी.

उन्होंने कहा, ‘‘जामिया बिनोरा के दरवाजे मेरे और मार्गदर्शन चाहने वाले किसी भी व्यक्ति के लिये हमेशा खुले हैं.’’ और हम यह सोचते हैं कि धार्मिक और आध्यात्मिक सफर निहायत व्यक्तिगत मामलात होते हैं जिन्हें न तो किन्हीं मुफ्ती साहेबान के समर्थन की आवश्यकता होती है न ही जुनेद जमशेद भाइयों या फिर मीडिया की.

लेकिन इतना जरूर तय है कि हम वीना की अदाओं को बहुत याद करेंगे और ऐसा लगता है कि अब उन्होंने उसी धार्मिक कट्टरपन को गले लगा लिया है जिससे वे कभी लोहा लेती थीं.

First published: 12 May 2016, 8:52 IST
 
लमट र हसन @LamatAyub

Bats for the four-legged, can't stand most on two. Forced to venture into the world of homo sapiens to manage uninterrupted companionship of 16 cats, 2 dogs and counting... Can read books and paint pots and pay bills by being journalist.

पिछली कहानी
अगली कहानी