Home » मनोरंजन » vinod khanna died things you need to know about Vinod Khanna's life
 

सफलता के शिखर से संन्यास: जब विनोद खन्ना बने 'स्वामी विनोद भारती'

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 April 2017, 11:12 IST

बॉलीवुड के 60 के दशक के फिल्म अभिनेता विनोद खन्ना का निधन हो गया है. विनोद खन्ना से जुड़ी खास बातें...

1. विनोद खन्ना का जन्म 6 अक्टूबर 1946 पेशावर (पाकिस्तान) में हुआ. उनके पिता का टेक्सटाइल, डाई और केमिकल का बिजनेस था विनोद खन्ना पांच भाई बहनों में से एक हैं. उनके एक भाई और तीन बहने हैं.

2. विनोद बचपन में बेहद शर्मीले थे, स्कूल के दौरान उन्हें एक टीचर ने जबरदस्ती नाटक में उतार दिया और उन्हें अभिनय की कला पसंद आई.

3. विनोद खन्ना के पिता नहीं चाहते थे कि उनका बेटा फिल्मों में जाए. विनोद की जिद के आगे वे झुके और उन्होंने दो साल का समय विनोद को दिया. विनोद ने इन दो सालों में मेहनत कर फिल्म इंडस्ट्री में जगह बना ली.

4. हैंडसम विनोद को सुनील दत्त ने 'मन का मीत' (1968) में विलेन के रूप में लॉन्च किया.

5. हीरो के रूप में स्थापित होने के पहले विनोद ने आन मिलो सजना, पूरब और पश्चिम, सच्चा झूठा जैसी फिल्मों में सहायक या खलनायक के रूप में काम किया. गुलजार द्वारा निर्देशित 'मेरे अपने' (1971) से विनोद खन्ना को.

6. मल्टीस्टारर फिल्मों से विनोद को कभी परहेज नहीं रहा और वे उस दौर के स्टार्स अमिताभ बच्चन, राजेश खन्ना, सुनील दत्त आदि के साथ फिल्में करते रहे.

7. सफलता के शिखर पर रहते हुए 1982 में विनोद खन्ना ने अचानक ऐसा फैसला लिया कि फिल्म इंडस्ट्री में हड़कंप मच गया. विनोद अपने आध्यात्मिक गुरु रजनीश (ओशो) की शरण में चले गए और ग्लैमर की दुनिया को उन्होंने अलविदा कह दिया. इस दौरान उन्होंने अपना नाम स्वामी विनोद भारती रख लिया था. ओशो ने अपने बगीचे की देखभाल के लिए उन्हें माली की जिम्मेदारी दी थी. पुणे के ओशो आश्रम में उन्हें दीक्षा भी दिलाई गई थी. अमेरिका में ओशो के आश्रम में वे चार साल तक रहे और आश्रम बंद होने के बाद भारत आ गए थे. ओशो से जुड़ने के बाद उन्होंने अपने कपड़े और लग्जरी सामान लोगों में बांट दिए. इस दौरान वो पहले गेरुआ और बाद में गहरे भूरे रंग का चोगा पहनने लगे.

8. विनोद के अचानक इस तरह से चले जाने के कारण उनकी पत्नी गीतांजली नाराज हुई और दोनों के बीच तलाक हो गया. विनोद और गीतांजली के दो बेटे अक्षय और राहुल खन्ना हैं.

9. 1990 में विनोद ने कविता से शादी की. कविता और विनोद का एक बेटा साक्षी और बेटी श्रद्धा है.

10. फिल्मों में टॉप के हीरोज के रूप में अपनी पहचान बनाने के बाद विनोद खन्ना ने समाज सेवा के लिए वर्ष 1997 में राजनीति में प्रवेश किया. वे भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए. 1998 में गुरदासपुर से चुनाव लड़कर लोकसभा के सदस्य बने.

First published: 27 April 2017, 12:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी