Home » एन्वायरमेंट » 45 Fin whales dead at Tamilnadu coast line
 

तमिलनाडु समुद्री तट पर 250 बैलीन व्हेलें फंसी, 45 की मौत

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 January 2016, 16:59 IST
QUICK PILL
  • तूतीकोरिन जिले के तिरुचेंदूर समुद्र तट पर मंगलवार तड़के एक-एक करके करीब 100 की संख्या में बैलीन व्हेल मछलियां आ गईं. 
  • विभागीय अधिकारियों ने मीडिया को बताया कि इन मछलियों को वापस गहरे पानी में भेजने की कोशिशें शुरू कर दी गई हैं

तमिलनाडु के समुद्र तट पर करीब 100 बैलीन व्हेल मछलियां मंगलवार सुबह बहकर आ गईं. जिनमें से 45 की मौत हो चुकी थी. हालांकि प्रशासन की सतर्कता और तत्काल कार्रवाई में 36 की जान बचा ली गई.

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक तूतीकोरिन जिले के तिरूचेंदूर समुद्र तट पर मंगलवार तड़के एक-एक करके करीब 100 की संख्या में बैलीन व्हेल मछलियां आ गईं. जबकि करीब 250 मछलियां समुद्र के उथले पानी में फंसी दिखाई दीं.

चेन्नई से करीब 600 किलोमीटर दूर मानापाडु और कलामोझी गांवों के बीच समुद्री तट पर पहुंची इन व्हेलों को मछुआरों और अधिकारियों ने समुद्र में वापस धकेला. लेकिन समुद्री लहरें इन्हें फिर से वापस तट पर ले आईं. 

विभागीय अधिकारियों ने मीडिया को बताया कि इन मछलियों को वापस गहरे पानी में भेजने की कोशिशें शुरू कर दी गई हैं. जबकि मामले की जांच के लिए मत्स्य पालन विभाग के शीर्ष अधिकारियों के एक दल को जांच करने के लिए मौके पर भेजा गया है. 

मत्स्य विभाग के एक वैज्ञानिक के मुताबिक, "यह एक असामान्य बात है. इस असामान्य मृत्यु की घटना के पीछे के कारणों का हमें पता लगाना है."

वहीं, तूतीकोरिन के मत्स्य पालन विभाग इस असाधारण घटना की वजहोंं की पड़ताल कर रहा है. नौसेना का सोनार वेव और प्रदूषण भी इसकी एक वजह हो सकती है.

हालांकि आधिकारिक रूप से घटना के कारणों की अब तक जानकारी नहीं मिल पाई है लिहाजा इस पर अटकलें नहीं लगानी चाहिए. अभी फंसी हुई व्हेलों के स्वास्थ्य और पारिस्थितकी तंत्र का अध्ययन भी किया जा रहा है. अध्ययन के लिए समुद्र विज्ञान विशेषज्ञों की सहायता की भी जरूरत पड़ेगी.

First published: 12 January 2016, 16:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी