Home » एन्वायरमेंट » World Environment Day 2019: Environment day growing from global warming growing mercury
 

World Environment Day 2019: लगातार बढ़ रही गर्मी से धधक रही धरती, आने वाले 50 सालों में और भी विकराल होगा रूप

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 June 2019, 11:26 IST

हर साल विश्वभर में 5 जून को  World Environment Day मनाया जाता है. इस मौके पर सभी को पर्यावरण के बिगड़ते हालात नजर आते हैं, लेकिन पर्यावरण का हाल हर साल बिगड़ता ही जा रही है. 

अभी के समय में पर्यावरण के जो हालात हैं, उसे देखकर अगर अब भी सचेत नहीं हुए तो आने वाले समय में पर्यावरण के ऐसे हालात हो जाएंगे कि लोगों का जीना दुभर हो जाएगा. आज पूरा पर्यावरण ग्लोबल वार्मिंग की चपेट में आ चुका है. धरती का तपन लगातार बढ़ता जा रहा है. ऐसे में धरती को बचाना जरूरी हो चुका है.

लगातार हो रहे वनों की कटाई ने पर्यावरण के जो हाल किए हैं, उसे आने वाले 100 सालों में पृथ्वी का संतुलन काफी गड़बड़ा सकता है. आने वाले समय में ठंड और बारिश कम होने की वजह से झुलसा देने वाली गर्मी का सामना करना पड़ सकता है. इसका प्रमुख कारण है कि हर एक 50 साल में ही गर्मी का स्तर दोगुना होता जा रहा है.

साल 1770 में आसमान में जहां कार्बन डाईआक्साइड की 272 पीपीएम (पार्ट पर मिलियन) ही थी वहीं ये बढ़ते-बढ़ते 380 पीपीएम से अधिक हो गई है. लगातार ठंड का असर कम होता जा रहा है. बारिश की कमी ने पूरे पर्यावरण में तबाही मचा रखी है.

बढ़ती गर्मी को लेकर वैज्ञानिकों का कहना है कि मौजूदा हालात को देखते हुए तापमान 51 से अधिक भी हो सकता है. वैज्ञानिकों द्वारा ये चेतावनी दी जा रही है कि ठंडी और बारिश कम होगी तो जीव जंतु की तबाही होने लगेगी.

भू भौतिकी विभाग, बीएचयू के वैज्ञानिक प्रो. ज्ञान प्रकाश सिंह ने कहा, "1770 के समय ग्रीन हाउसेज का उत्सर्जन शुरू हुआ था. यह पृथ्वी से आसमान में जाने वाली कार्बन डाईआक्साइड पृथ्वी पर वापस कर देता है, जिसके कारण पर्यावरण प्रदूषित हो रहा और गर्मी भी बढ़ रही है."

PM मोदी ने ईद-उल-फितर के मौके पर दी बधाई, इस अनोखे अंदाज में दिया संदेश

First published: 5 June 2019, 11:12 IST
 
अगली कहानी