Home » एन्वायरमेंट » Another threat looming over the world amid Corona virus epidemic, Japanese scientists warn
 

कोरोना वायरस की महामारी के बीच दुनिया पर मंडरा रहा एक और खतरा, वैज्ञानिकों ने दी चेतावनी

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 April 2020, 10:12 IST

Japanese scientist warns about Tsunami and Earthquake: पूरी दुनिया कोरोना वायरस की महामारी (Corona Virus Pandemic) से जूझ रही है. इसी बीच जापान के वैज्ञानिकों (Japanese Scientis) ने एक और आफत की चेतावनी दी है. दरअसल, जापान के एक सरकारी पैनल (Government Panel) ने देश मे बड़ी सुनामी (Tsunami) और भूकंप (Earthquake) की चेतावनी दी गई है. बता दें कि जिस पैनल ने भूकंप और सुनामी की चेतावनी दी है उसमें जापान के कई विशेषज्ञ और वैज्ञानिकों शामिल है. पैनल ने चेतावनी दी है कि सुनामी में 30 मीटर तक ऊंची लहरें उठ सकती हैं. और देश में रिक्‍टर स्‍केल पर नौ की तीव्रता वाला भूकंप भी आ सकता है.

बता दें की इसी महीने के 18 तारीख को जापान में एक तीव्र भूकंप आ चुका है. ये भूकंप प्रशांत महासागर के दक्षिणी हिस्‍से में आया और राजधानी टोक्‍यो के पास से गुजर गया. हालांकि इससे कोई नुकसान नहीं हुआ. जापान की मीटियोरॉजिकल एजेंसी का कहना है कि यह भूकंप जापान के दक्षिण में ओगासावारा द्वी पर आया था. जापान टाइम्‍स ने टोक्‍यो यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर और पैनल के हेड सेसमोलॉजिस्‍ट केंजी सताके के हवाले से लिखा कि एक बड़े भूकंप से इस मौके पर निबटना काफी मुश्किल होगा. लोगों की जिंदगियां बचाने और सबसे अहम होगा उन्‍हें सुरक्षित निकालना होगा.


कोरोना वायरस के बाद इस साल दुनिया पर मंडरा रहा है इन समुद्री तूफानों का खतरा

बता दें कि जापान में हर रोज कई भूकंप आते हैं इनमें से ज्यादातर की तीव्रता बहुत कम होती है. जिससे कोई नुकसान नहीं हो पाता. लेकिन साल 2011 में यहां 9 रिएक्टर स्केल का भूकंप आया था और उसके बाद आई सुनामी ने भारी तबाही मचाई थी. हाल ही में जारी चेतावनी में कहा गया है है कि एरिमो टाउन में सुनामी की वजह से 90 मीटर तक की ऊंची लहरें उठ सकती हैं. जापान टाइम्‍स की मानें तो टोक्‍यो इलेक्ट्रिक पावर कंपनी होल्डिंग्‍स इंक के मालिकाना हक वाला फुकिशिमा का न्‍यूक्लियर प्‍लांट डूब सकता है.

Coronavirus: लॉकडाउन का कुदरत पर पड़ा बड़ा प्रभाव, कोलकाता में 30 साल बाद लौटीं गंगा डॉल्फिन

इससे पहले ये प्‍लांट साल 2011 में आई सुनामी में भी बुरी तरह प्रभावित हुआ था. तब आई सुनामी में जापान के 16 राज्‍यों में 10,872 लोगों की मौत हुई थी और करीब 17,000 लोग लापता हो गए थे. वह भूकंप भी रिक्‍टर स्‍केल पर नौ की तीव्रता वाला था. उसके बाद अप्रैल 2016 में जापान में 24 घंटों के अंदर 28 से ज्‍यादा भूकंप के झटके महसूस किए गए.

इन राज्यों में अगले चार दिन तक भारी बारिश और तूफान की चेतावनी, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

First published: 25 April 2020, 10:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी