Home » एन्वायरमेंट » Telangana: Army and NDRF conducts special medical & flood relief camps in Hyderabad
 

हैदराबाद में भारी बारिश से हाहाकार, 16 साल का टूटा रिकॉर्ड, सेना ने संभाला मोर्चा

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 September 2016, 16:30 IST
(एएनआई)

तेलंगाना में तीन दिन से हो रही मूसलाधार बारिश के बाद राजधानी हैदराबाद में बाढ़ जैसे हालात हैं. हैदराबाद के साथ ही राज्य के कई हिस्से भारी बारिश से बुरी तरह प्रभावित हुए हैं.

बताया जा रहा है कि आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में अब तक 17 लोगों की मौत हो चुकी है. आंध्र प्रदेश में बारिश की वजह से आज चार और मौतें होने की खबर है. जिसके बाद आंध्र में मरने वालों की संख्या नौ पहुंच गई है.

राज्य के गुंटूर में छह और विशाखापत्तनम में तीन लोगों की मौत हुई है. इसके अलावा तेलंगाना के मेडक जिले में बारिश से जुड़ी घटनाओं में चार लोगों की मौत हो गई. आंध्र प्रदेश में गुंटूर और कृष्ण नदी के उपरी जलग्रहण क्षेत्रों में भारी बारिश से केएल राव सागर जलाशय तकरीबन पूरा भर गया है.

इसकी कुल क्षमता 45.77 टीएमसी फुट की है और इसमें अभी 30 टीएमसी फुट पानी है. केएल राव सागर जलाशय से 1.51 क्यूसेक बाढ़ का पानी छोड़ा जा रहा है, जो विजयवाड़ा में कृष्णा नदी पर बने प्रकाशम बांध में पहुंच रहा है.

हैदराबाद में भारी बारिश के बाद लोगों की मदद में जुटे सेना के जवान. (एएनआई)

हैदराबाद में तीन दिन से मूसलाधार बारिश

इस बीच भारी बारिश का असर परिवहन व्यवस्था पर भी पड़ा है. गुंटूर और सिकंदराबाद के बीच लगातार दूसरे दिन भी रेल सेवा स्थागित रही. छोटी नदियां  उफान पर होने से सत्तेनपल्ली के पास दो किलोमीटर से ज्यादा दूरी की पटरियां बह गई हैं.

हैदराबाद में तीन दिन से मूसलाधार बारिश हो रही है. तेंलगाना सरकार ने आईटी कंपनियों से कहा है कि वे अपने कर्मचारियों को घर से ही काम करने की इजाजत दें. सरकार ने कुछ इलाकों में बचाव अभियान के लिए सेना की मदद मांगी है.

तेलंगाना के सभी जिलों में नियंत्रण कक्ष

वहीं ग्रेटर हैदराबाद इलाके में दो दिन के लिए शैक्षिक संस्थानों में छुट्टी का एलान किया है.सेना को गच्ची बावली, निजामपेट, अलवल और हकीमपेट जैसे इलाकों के नक्शे और जानकारी दी गई है.

मुख्यमंत्री के चन्द्रशेखर राव ने बारिश से प्रभावित लोगों को मदद पहुंचाने के लिए अधिकारियों को राज्य के सभी जिलों में नियंत्रण कक्ष बनाने के आदेश जारी किए हैं.

सेना की एक टीम ने भी शुक्रवार को बारिश से प्रभावित रंगारेड्डी जिले के अलवल में हालात का जायजा लिया. वहीं राष्ट्रीय आपदा राहत बल (एनडीआरएफ) ने भी राहत और बचाव कार्य का मोर्चा संभाल लिया है.

हैदराबाद में बुधवार रात 11 बजे शुरू हुई बारिश ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं.

हैदराबाद में 16 साल का टूटा रिकॉर्ड

मंगलावार से लगातार हो रही बारिश ने आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के तीन जिलों में लोगों का जीना मुहाल कर रखा है. हैदराबाद, गुंटूर और रंगा रेड्डी जिले में करीब दस लाख लोग बारिश से प्रभावित हुए हैं.

हैदराबाद में पिछले 16 साल का रिकॉर्ड टूट गया. यहां सिर्फ 6 घंटे में 20 सेंटीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई. गुंटूर जिले में 10 हजार से भी ज्यादा लोगों को सुरक्षित निकाला गया.

हैदराबाद में बुधवार रात 11 बजे से बारिश शुरू हुई, जिसने सुबह 4 बजे से 8 बजे तक चार घंटे के दौरान सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए. रिहायशी इलाकों में 7 से 8 फुट तक पानी भर गया.

शहर में बुधवार रात तक 110 से 160 मिमी तक बारिश दर्ज हुई. गुंटूर में लोगों के घरों में भी पानी घुस आया. रेस्क्यू ऑपरेशन में हेलीकॉप्टर के जरिए लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया. 

First published: 24 September 2016, 16:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी