Home » एन्वायरमेंट » Assam Flood Bihar Flood: 20 people died due to heavy rain and flood, rivers wreaking havoc in Purvanchal
 

बारिश-बाढ़ ने असम और बिहार में बरपाया कहर, 20 और लोगों की मौत, उफान पर पूर्वी यूपी की नदियां

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 July 2020, 7:29 IST

Assam and Bihar Flood: एक ओर पूरा देश कोरोना वायरस महामारी (Corona Virus Pandemic) से जूझ रहा है, वहीं पूर्वी यूपी (Eastern UP), बिहार (Bihar) और पूर्वोत्तर (Northeast) के राज्यों में भारी बारिश (Heavy Rain) के चलते आई बाढ़ (Flood) ने कहर बरपा रखा है. वहीं पूर्वी यूपी (Eastern UP) की कई नदियां (Rivers) उफान पर हैं और नदियों में पानी खतरे के निशान से ऊपर बह रहा है. बताया जा रहा है कि रविवार (Sunday) को उत्तर बिहार (North Bihar) के जिलों में बाढ़ (Floods) और बारिश (Rain) के पानी में डूबने से 15 लोगों की मौत हो गई. उधर असम में भी बाढ़ के हालात लगातार चिंताजनक बनते जा रहे हैं. असम के 23 जिलों के बाढ़ से 25 लाख लोग प्रभावित हुए हैं. साथ ही राज्य में पांच और लोगों की मौत होने से मरने वालों का आंकड़ा सौ के पार पहुंच गया है.

वहीं उत्तर बिहार के जिलों में बारिश और बाढ़ कहर बरपा रही है. रविवार को मुजफ्फरपुर में आठ लोगों की मौत हो गई वहीं पूर्वी चंपारण में सात लोगों की जान गई है. बिहार में बाढ़ से अब उत्तर बिहार के कुल 11 जिले प्रभावित हुए हैं. रविवार को सारण जिले के पांच प्रखंड में भी बाढ़ का पानी घुस गया. इसके साथ ही इन 11 जिलों के 86 प्रखंडों की 625 पंचायतें बाढ़ से घिर गई हैं. यहां की करीब 15 लाख की आबादी बाढ़ की चपेट में है. शनिवार तक राज्य में दस लाख 61 हजार लोग बाढ़ से प्रभावित थे.


चीन के बुरे दिन शुरु ! भारत ने अपने परमाणु हथियारों का रुख पाकिस्तान की बजाए उधर मोड़ा- रिपोर्ट

यही नहीं तालाबों में बाढ़ का पानी भर जाने से उत्तर बिहार के मछली पालन व्यवसाय को भी भारी नुकसान हुआ है. आपदा प्रबंधन विभाग के अपर सचिव रामचंद्रुडु ने बताया कि हेलीकॉप्टर के माध्यम से रविवार को भी गोपालगंज और पूर्वी चंपारण के विभिन्न गांवों में फूड पैकेट्स बाढ़ पीड़ितों तक पहुंचाए गए. उधर, गंडक नदी का कहर कम नहीं हो रहा है. हालांंकि नेपाल से पानी आना बहुत कम हो गया है. बावजूद इसके नदी का दबाव काफी है. रविवार को बैंकुन्ठपुर के पास रिटायर्ड बांध चार जगह टूट गया. इसके कारण कई नए इलाके में बाढ़ का पानी घुस गया है. राज्य में गंगा का जलस्तर थोड़ा बढ़ा है लेकिन अब भी पटना में यह लाल निशान से काफी नीचे है.

कोरोना संक्रमित बच्चे के पास नहीं थे एंबुलेंस के पैसे, ड्राइवर ने ऑक्सीजन मास्क नोच कर फेंका

वहीं पूर्वी यूपी के गोरखपुर में राप्ती-रोहिन, गोर्रा और सरयू नदियां कहर बरपा रही हैं. कुछ स्थानों पर बंधों पर दबाव भी तेज हो गया है. 63 गांव बाढ़ के पानी में पूरी तरह या आंशिक रूप से घिर गए हैं. प्रभावित गांवों के ग्रामीणों को दिक्कतें होने लगी हैं. प्रशासन ने इन गांवों को राहत पहुंचाने के लिए 126 नावें लगाई गई हैं.

बिहार: बाढ़ में फंसे लोगों के लिए खुदा बनी भारतीय वायुसेना, भूखे रात बिता रहे लोगों को पहुंचाई राहत सामग्री

इंदौर: निगमकर्मियों ने ठेला क्या पलटा अंडा बेचने वाली की पलट गई किस्मत, हो गई पैसों की बौछार

बता दें कि असम में बाढ़ और भूस्खलन के चलते अब तक 128 लोगों की मौत हो चुकी है. इनमें से 102 लोगों की जान बाढ़ से जुड़ी घटनाओं में हुई है. बाकी 26 की मौत भूस्खलन के चलते हुई है. असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने अपनी बाढ़ संबंधी नियमित रिपोर्ट में बताया है कि हाल में बारपेटा तथा कोकराझार जिलों में दो-दो लोगों की मौत हुई है तथा मोरीगांव जिले में एक शख्स की जान गई है.  प्राधिकरण के मुताबिक, राज्य में 24.76 लाख से अधिक लोग बाढ़ से प्रभावित हैं. सर्वाधिक 4.7 लाख से अधिक लोग गोलपाड़ा में प्रभावित हैं. राज्य में 101 नौकाएं तैनात की गई हैं.

अब कंपनियों को नहीं मिल रहे मजदूर, फ्री प्लेन टिकट के बाद भी वापस लौटने को तैयार नहीं

First published: 27 July 2020, 7:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी