Home » एन्वायरमेंट » Cyclone Nisarga: cyclone reaches near Mumbai, strong winds and rains begin
 

Cyclone Nisarga : मुंबई में तेज बारिश और आंधी, नरीमन पॉइंट इलाके में उखड़े पेड़, NDRF तैयार

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 June 2020, 15:58 IST

चक्रवाती तूफान निसर्ग के चलते मुंबई में हो रही तेज़ बारिश और आंधी के बीच नरीमन प्वाइंट इलाके में पेड़ जड़ से उखड़ गए. मुंबई में NDRF, फायर ब्रिगेड, लाइफ गार्ड और हर तरह की आपदा से निपटने के लिए टीमें तैयार हैं. मौसम विभाग ने कहा  एक घंटे में लैंडफॉल प्रक्रिया पूरी हो जाएगी. केंद्र के पास इसकी वर्तमान तीव्रता 90-100 किमी प्रति घंटा से 110 किमी प्रति घंटा है. यह अगले 6 घंटे के दौरान उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ेगा और चक्रवाती तूफान में कमजोर हो जायेगा. 

DCP, मुंबई पुलिस ने कहा ''चक्रवात मुंबई की तटीय क्षेत्रों पर प्रभावित करेगा है, हालांकि इसका मुख्य प्रभाव रायगढ़ में बताया जा रहा है लेकिन मुंबई शहर भी इससे प्रभावित रहेगी. इसके अंतर्गत मुंबई पुलिस ने पूरी तैयारी कर रखी है पुलिस स्टेशन में सभी स्टाफ लोगों की सहायता करने के लिए तैनात हैं.


महाराष्ट्र में चक्रवात निसर्ग के मद्देनजर राज्य के तटीय क्षेत्रों से हजारों लोगों को निकाला गया है. चक्रवात निसर्ग हरिहरेश्वर और दमन के बीच महाराष्ट्र तट को दोपहर 1 बजे से 4 बजे के बीच पार करेगा. भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने महाराष्ट्र के कम से कम सात तटीय जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी किया है, जबकि गुजरात के तट के साथ कई जिलों में भी भारी बारिश की उम्मीद है.

IMD का कहना है निसर्ग तूफान को अम्फान की तरह विनाशकारी नहीं है लेकिन गुजरात और महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में इससे काफी नुकसान पहुंचने की आशंका है. महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में तेज हवाएं चल रही हैं. इसके अलावा तटीय इलाकों में भारी बारिश भी हो रही है.

Cyclone Nisarga: मुंबई से आने-जाने वाली ट्रेनों के समय में हुआ बदलाव, यहां देखिये पूरी लिस्ट

मुंबई में भारी वर्षा देखी गई और 164 मिमी से ऊपर भारी वर्षा होने की संभावना है. एनडीआरएफ की टीम बीएमसी के साथ मिलकर वर्सोवा के पास के तटीय इलाकों से लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल रही है. रायगढ़ में चक्रवात निसर्ग को देखते हुए अलीबाग के शास्त्री नगर इलाके से लगभग 390 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल कर अलीबाग के अरुणकुमार वैद्य स्कूल में ठहराया गया है.

महाराष्ट्र के विभिन्न स्थानों (समुद्री बेल्ट क्षेत्रों) से अब तक लगभग 40000 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. महाराष्ट्र के NDRF प्रमुख अनुपम श्रीवास्तव ने कहा ''महाराष्ट्र के तटीय क्षेत्रों में NDRF की कुल 20 टीमें तैनात हैं. ये टीमें तटीय क्षेत्रों में रहने वाले लोगों की मदद कर रही हैं और उन्हें सुरक्षित बाहर निकाल कर शेल्टर होम लेकर जा रही हैं.

Cyclone Nisarga: आज दोपहर मुंबई तट से टकराएगा निसर्ग तूफान, मचा सकता है भारी तबाही

First published: 3 June 2020, 13:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी