Home » एन्वायरमेंट » Cyclone storm Maha will knock in Gujarat today and another cyclone can hit Odisha in next 24 hours
 

चक्रवाती तूफान 'महा' का नहीं खत्म हुआ असर, इन राज्यों में अभी भी मचा सकता है तबाही

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 November 2019, 10:55 IST
(प्रतीकात्मक फोटो)

अरब सागर से उठा चक्रवाती तूफान 'महा' आज किसी भी वक्त गुजरात तट से टकरा सकता है. जिसे देखते हुए मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है. विभाग के मुताबिक चक्रवाती तूफान 'महा' 90 किलोमीटर प्रति घंटे की तफ्तार से गुजरात की ओर बढ़ रहा है. मौसम विभाग के मुताबिक, इस तूफान के आज दोपहर तक दीव तट से टकराने की आशंका है.

मौसम विभाग का कहना है कि बुधवार और गुरुवार को सूरत सहित गुजरात के 12 जिलों में भारी बारिश होने की संभावना है. साथ ही यहां 90 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं भी चलेंगी. मौसम विभाग ने कहा है कि 'महा' तूफान तेजी से कमजोर हो रहा है. बावजूद इसके प्रशासन ने सुरक्षा के तमाम इंतजाम कर लिए हैं.

इसके साथ ही बंगाल की खाड़ी से भी एक नए चक्रवाती तूफान 'बुलबुल' के उठने की खबर है. बताया जा रहा है कि 'बुलबुल' इस साल का 7वां चक्रवाती तूफान होगा. वहीं चक्रवाती तूफान 'महा' की रफ्तार को देखते हुए गुजरात में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है.

इसके साथ ही मछुआरों को समुद्र में ना जाने की सलाह दी गई है साथ ही उन्हें समुद्र के आसपास के स्थानों को खाली करने को कहा गया है. अलर्ट के बाद प्रशासन समुद्र किनारों पर नजर बनाए हुए है कि कहीं कोई समुद्र में न जाए. मौसम विभाग के मुताबिक, चक्रवाती तूफान 'महा' के कारण महाराष्ट्र के उत्तर कोंकण और गुजरात में आंधी के साथ तेज बारिश होने की संभावना है.

मौसम विभाग के मुताबिक, चक्रवाती तूफान के चलते गुजरात के सोमनाथ, अमरेली, जूनागढ़ और गिर में 6 नवंबर को 70 से 90 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी. वहीं भावनगर, अहमदाबाद, पोरबंदर और बटोद में 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने का अलर्ट जारी किया गया है. इस दौरान समुद्र में 1 मीटर तक की लहरें उठ सकती हैं.

चक्रवाती तूफान 'महा' से होने वाली तबाही को देखते हुए पूरे गुजरात में अलर्ट जारी कर दिया गया है. साथ ही राज्य सरकार केंद्र सरकार से लगातार संपर्क बनाए हुए है. इसके साथ ही एनडीआरएफ की 15 टीमों को सुरक्षा के इंतजाम में लगाया गया है. जबकि अन्य 15 टीम बुलाई गई है. वहीं तटरक्षक बल और नौसेना के पोतों को भी अलर्ट पर रखा गया है.

इसके अलावा बंगाल की खाड़ी में बन रहा कम दबाव का क्षेत्र अब और शक्तिशाली हो गया है. इसके बुधवार तक चक्रवाती तूफान में बदल जाने की आशंका है. मौसम विभाग की भुवनेश्वर इकाई के निदेशक एचआर विश्वास का कहना है कि फिलहाल इसका केन्द्र पारादीप से करीबन 950 किमी. दूरी पर है.

बुधवार तक यह अधिक सक्रिय हो जाएगा और तूफान का रूप ले सकता है. अगर बंगाल की खाड़ी का ये कम दबाव चक्रवाती तूफान में बदलता है तो यह ओडिशा के साथ-साथ पश्चिम बंगाल तट की ओर बढ़ सकता है. हालांकि अभी इस बात का कोई पता नहीं चला है कि ये तूफान किस जगह पर टकराएगा.

ये भी पढ़ें-

चक्रवाती तूफान महा का अभी खत्म नहीं हुआ असर, मौसम विभाग ने जारी किया नया अलर्ट

फोन से चेक कीजिये अपने इलाके का प्रदूषण, डाउनलोड कीजिये ये एप्स

अरब सागर से उठे खतरनाक चक्रवाती तूफान 'महा' से इन राज्यों में हो सकती है भारी बारिश से तबाही

First published: 6 November 2019, 10:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी