Home » एन्वायरमेंट » Global population to be at peak in 2064; India to have maximum workers by 2100: Lancet study
 

2064 में चरम पर होगी दुनिया की आबादी, 2100 तक में भारत में होंगे सबसे ज्यादा कामगार : अध्ययन

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 October 2020, 13:56 IST

Global Population : हाल ही में लैंसेट में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार भारत में साल 2100 तक दुनिया की सबसे बड़ी कामकाजी आबादी होने का अनुमान है, इसके बाद नाइजीरिया, चीन और अमेरिका है. लेंसेट में छपे अध्ययन के अनुसार इस दौरान श्रमिकों की संख्या में भारी गिरावट आने की संभावना  है. श्रमिकों की संख्या में भारी गिरावट चीन और भारत में शोधकर्ताओं द्वारा देखी गई है. शोधकर्ताओं ने 2017 में आबादी के 10 सबसे बड़े देशों में कामकाजी व्यक्तियों (20 से 64 वर्ष की आयु) की संख्या में गिरावट का अनुमान लगाया था.

शोधकर्ताओं ने 195 देशों में साल 2018 से 2100 तक की आबादी पर अध्ययन किया था, जिसमें ग्लोबल बर्डन ऑफ डिजीज, इंजरीज़ और रिस्क फैक्टर्स स्टडी (जीबीडी) 2017 के अनुमानों का इस्तेमाल किया गया था. अध्ययन में कहा गया है कि वैश्विक जनसंख्या 2064 में 9·73 बिलियन के साथ चरम पर होगी और फिर 2100 में घटकर 8·79 बिलियन हो जाएगी. अध्ययन के अनुसार 2100 में जनसंख्या के हिसाब से भारत, नाइजीरिया, चीन, अमेरिका और पाकिस्तान पांच सबसे बड़े देश हैं.


चीन ने बॉर्डर पर तैनात किये हैं 60,000 सैनिक, भारत को इस लड़ाई में अमेरिका की है जरूरत - पोम्पिओ

2050 तक कुल प्रजनन दर (TFR) में भी गिरावट का अनुमान है. अध्ययन के अनुसार जापान, थाईलैंड और स्पेन सहित 23 देशों में जनसंख्या में गिरावट का अनुमान 50 फीसदी से अधिक है. चीन की जनसंख्या में 48 फीसदी की गिरावट आने की संभावना है और उसके 2035 तक सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने का अनुमान है, अमेरिका 2098 में इससे आगे निकल जायेगा. अध्ययन में कहा गया है कि महिला साक्षरता में बढ़ोतरी और गर्भनिरोधक तक पहुंच प्रजनन क्षमता में तेजी से गिरावट और जनसंख्या वृद्धि को धीमा कर देगी.

लेंसेट अध्ययन के अनुसार "आबादी में सभी महिलाओं की 16 साल की शिक्षा है और 95 फीसदी महिलाओं की गर्भनिरोधक तक पहुंच है. कहा आया है कि सदी के उत्तरार्ध में कुल विश्व जनसंख्या में गिरावट, वैश्विक पर्यावरण के लिए संभावित रूप से अच्छी खबर है. शोधकर्ताओं ने अनुमान लगाया कि 195 देशों में 2100 में 1,000 लोगों के बीच शुद्ध प्रवासन दर होगी, अतिरिक्त 44 देशों में 2 प्रति 1,000 के बीच शुद्ध प्रवासन दर होगी.

COVID-19 Update: दुनियाभर में फिर बढ़ी कोरोना की रफ्तार, एक दिन 3.50 लाख से ज्यादा नए केस, 7100 की गई जान

First published: 10 October 2020, 13:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी