Home » एन्वायरमेंट » global warming record break up on this may
 

मई में फिर टूटा ग्लोबल वॉर्मिंग का रिकॉर्ड

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 June 2016, 16:40 IST
(नासा )

अमेरिका के नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (नासा) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक इस साल भी मई के महीने में वैश्विक तापमान के सारे रिकॉर्ड टूट गए हैं. नासा के मुताबिक उत्तरी गोलार्ध में वसंत सबसे गर्म रहा है.

उत्तरी ध्रुव विशेष रूप से गर्म है, जिससे उत्तरी ध्रुव सागर की बर्फ और ग्रीनलैंड की बर्फ की परतें इस बार जल्द पिघलने लगी हैं.

लेकिन इसके साथ नासा की ओर से यह भी कहा गया है कि उत्तरी गोलार्ध में बर्फ की परत आसाधरण तौर पर कम भी थी. इस बार मई के इस रिकॉर्ड तापमान के साथ जुड़ी कई अन्य घटनाएं भी हुई हैं.

यूरोप और दक्षिणी अमेरिका में बेहद ज्यादा बारिश हुई है. इसके साथ ही मूंगे की चट्टानों के रंग उड़ने की व्यापक घटनाएं हुई हैं.

अल नीनो का असर

वैश्विक जलवायु अनुसंधान कार्यक्रम के निदेशक डेविड कार्लसन ने इस मामले में कहा कि इस साल अब तक की जलवायु की स्थिति हमारे लिए बड़ी चिंता का विषय है.

उन्होंने कहा, "असाधारण तौर पर मार्च और मई में बर्फ पिघलने की दर हम आम तौर पर जुलाई तक नहीं देखते थे. 2016 में अब तक उच्च तापमान की वजह मजबूत अल नीनो रहा. जिसका प्रभाव धीरे-धीरे खत्म हो गया है."

First published: 16 June 2016, 16:40 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी