Home » एन्वायरमेंट » Gujarat government has reduced 6.51 lakh trees in five years
 

गुजरात सरकार ने पांच साल में गिराए 6.51 लाख पेड़

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 March 2019, 10:40 IST

गुजरात राज्य विधानसभा के आंकड़ों से पता चलता है कि राज्य सरकार ने 2013 और 2017 के बीच राज्य भर में 9.74 लाख से अधिक पेड़ काटने की अनुमति दी. इस अवधि के दौरान लगभग 6.51 लाख पेड़ राज्य भर में गिराए गए, जिनमे ज्यादातर दक्षिणी गुजरात में हैं. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार 2013 में पेड़ों की कटाई पर सरकार ने सख्ती कम कर दी. 2013 में 1,94,119 पेड़ों को काटने की अनुमति दी गई और 2017 में इस सीमा को बढ़ाकर 2,07,974 कर दिया गया, जो 7.14 प्रतिशत की वृद्धि थी.

सितंबर 2018 में गरबाड़ा विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस विधायक चंद्रिकबेन बारिया द्वारा पूछे गए एक प्रश्न के उत्तर में यह डेटा राज्य के वन मंत्री गणपत वसावा द्वारा लिखित रूप में दिया गया. अधिकांश परमिट वलसाड, नवसारी, सूरत और डांग जिलों में पेड़ की कटाई से संबंधित हैं, जो राज्य भर में दिए गए परमिटों की संख्या का 46 प्रतिशत है.

 

वलसाड जिला उन जिलों की सूची में सबसे ऊपर है, जहां 1,41,145 पेड़ों को काटने की अनुमति दी गई. दक्षिण गुजरात के अन्य जिले जैसे नवसारी में -1,16,559 सूरत -1,03,896) और डांग में 84,963 पेड़ों को काटने की अनुमति दी गई. आने वाले दिनों में विभिन्न ढांचागत परियोजनाओं के लिए और अधिक पेड़ों को काटने की उम्मीद है.

जबकि एसजी-राजमार्ग पर पहले से ही पेड़ की कटाई चल रही है, जहां सरखेज और चिलोदा के बीच चार लेन के ट्रैक को छह लेन तक विस्तारित किया जा रहा है. इस परियोजना के लिए कम से कम 5,000 से अधिक पेड़ों को काटने की आवश्यकता होगी

First published: 9 March 2019, 10:40 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी