Home » एन्वायरमेंट » India Weather Update : Heavy Rain in likely in Uttar Pradesh Haryana Punjab and Uttarakhand
 

Weather Update: राजधानी दिल्ली मूसलाधार बारिश, आज यूपी और हरियाणा समेत इन राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 September 2021, 7:57 IST

Weather Update: देश के ज्यादातर हिस्सों में मानसूनी बारिश क दौर जारी है. शनिवार को दिल्ली एनसीआर समेत देश के कई इलाकों में भारी बारिश दर्ज की गई. ये पहली बार है जब आते हुए मानसून से सितंबर के महीने में रिकॉर्ड तोड़ बारिश हुई है. राजधानी दिल्ली में इतनी बारिश हुई कि पिछले 121 साल का रिकॉर्ड टूट गया. मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली में 01 सितंबर से लेकर शनिवार यानी 11 सितंबर दोपहर तक 380.2 मिमी बारिश दर्ज की गई. राजधानी दिल्ली में इससे पहले साल 1944 में इतनी बारिश हुई थी.

इन राज्यों में आज हो सकती है भारी बारिश


जाते हुए मानसून के सक्रिय होने से देश के लगभग हर इलाके में इनदिनों तेज बारिश हो रही है. मौसम विभाग ने बारिश के पूर्वानुमान के तहत बताया है कि रविवार को भी पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, ओडिशा के कुछ हिस्सों, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, पूर्वी गुजरात और अंडमान निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना है. इसके अलावा पश्चिम बंगाल के कई इलाकों, कोकण और गोवा, तटीय कर्नाटक में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक स्थानों पर तेज बारिश हो सकती है.

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक, इसके अलावा आज यानी रविवार को पश्चिमी राजस्थान, सौराष्ट्र और कच्छ, मराठवाड़ा, तटीय आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश के साथ एक-दो स्थानों पर मध्यम बारिश होने का अनुमान हैै. इसके अलावा आंतरिक कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु के कुछ हिस्सों, बिहार और पूर्वोत्तर भारत में हल्की बारिश होने की संभावना बनी हुई है.

यहां हुई सामान्य से कम बारिश

देश के ज्यादातर इलाकों में भले ही अभी भी बारिश का दौर जारी हो लेकिन मध्य प्रदेश में इस साल सामान्य से भी कम बारिश दर्ज की गई. राज्य में इस मानसून सीजन में अब तक 802 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है जो सामान्य बारिश से छह फीसदी कम है. मौसम विभाग के मुताबिक, मध्य प्रदेश में एक जून से अब तक यानी सितंबर तक 802 मिमी बारिश हुई है जबकि इस दौरान सामान्य तौर पर औसत बारिश 854.8 मिमी होती है.

भारत का अफगानिस्तान की तालिबान सरकार को मानने से इनकार, विदेश मंत्री ने कही ये बड़ी बात

मौसम विभाग के मुताबिक मध्य प्रदेश के के कम से कम 16 जिलों में कम बारिश दर्ज की गई है. इनमें से 11 पूर्वी और पांच पश्चिमी हिस्से शामिल हैं. पूर्वी मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले में सबसे कम सामान्य से 44 फीसदी बारिश दर्ज की गई है. जबकि सिंगरौली में सबसे ज्यादा सामान्य से 47 फीसदी अधिक बारिश हुई है. मौसम विभाग के मुताबिक, इस साल मध्य प्रदेश में मानसून सामान्य तिथि से पहले आ गया था.

गुजरात: अचानक नहीं दिया विजय रूपाणी ने इस्तीफा, पिछले साल लिखी गई थी इस्तीफे की पटकथा

First published: 12 September 2021, 7:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी