Home » एन्वायरमेंट » Not only lungs but Air Pollution may affect your menstrual cycle, claims study
 

पीरियड्स को भी प्रभावित कर सकता है वायु प्रदूषण

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 January 2018, 17:09 IST

यूं तो वायु प्रदूषण सांस संबंधी परेशानियों को बढ़ाने का सीधे तौर पर कारक है, लेकिन यह इसके अलावा भी कई अन्य समस्याएं खड़ी कर सकता है. एक ताजा शोध में पता चला है कि वायु प्रदूषण के कारक महीन कण किशोरियों को प्रभावित करके उनके मासिक चक्र को अनियमित कर देते हैं.

अमेरिका के मैसाच्युसेट्स स्थित बोस्टन यूनिवर्सिटी के विशेषज्ञों के मुताबिक वायु प्रदूषण के नकारात्मक स्वास्थ्य प्रभावों में प्रजनन क्षमता में कमी, मेटाबोलिक सिंड्रोम और पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम जैसी परेशानियां शामिल हैं.

अध्ययन में दावा किया गया है यह ऐसा पहला मौका है जब वायु प्रदूषण के संपर्क में आने से किशोर लड़कियों (14-18 आयुवर्ग) के मासिक चक्र में थोड़ी अनियमितता आने का पता चला है और इसके नियमित होने में काफी देरी होती है.

शोध की लेखिका श्रुति महालिंगैया कहती हैं, "जहां वायु प्रदूषण का संबंध हृदय संबंधी और फेफड़ों से जुड़ी बीमारियों से जोड़ा जाता है, यह शोध बताती है कि रिप्रोडक्टिव एंडोक्राइन सिस्टम समेत कई ऐसे शारीरिक तंत्र हैं, जिन पर भी वायु प्रदूषण का दुष्प्रभाव पड़ता है."

मासिक चक्र, हार्मोन में बदलाव के लिए उत्तरदायी है और वायु प्रदूषण में मौजूद पर्टिकुलेट मैटर (पीएम) से हार्मोन सक्रियता पर फर्क पड़ता है. शोधकर्ताओं ने इसके लिए स्वास्थ्य और लोकेशन के आंकड़े जुटाए, जो ईपीए के वायु गुणवत्ता निगरानी तंत्र से नर्सेज हेल्थ स्टडी 2 प्लस में वायु प्रदूषण एक्सपोजर को लेकर हासिल किए गए थे. ताकि एक तय समय पर प्रतिभागियों के वायु के संपर्क में आने संबंधी जानकारी मिल सके.

शोधकर्ताओं ने पाया कि हाई स्कूल के दौरान वायु प्रदूषण के संपर्क में आने से मासिक चक्र की अनियमितता का संबंध होता है. महालिंगैया कहती हैं, "वैश्विक और व्यक्तिगत स्तर पर उत्सर्जन को कम करने के माध्यम से मानव रोग पर पड़ने वाले प्रभाव में कमी आ सकती है." इस शोध के नतीजे ह्मुमैन रिप्रोडक्शन जर्नल में छपे हैं.

First published: 26 January 2018, 17:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी