Home » एन्वायरमेंट » Srinagar recorded the coldest night of 25 years, minus minus 8.0 degree Celsius
 

श्रीनगर में दर्ज की गई 25 साल की सबसे सर्द रात, माइनस 8.0 डिग्री सेल्सियस तक गिरा तापमान

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 January 2021, 15:06 IST
(Twitter)

मौसम विभाग (Indian Meteorological Department)का कहना है कि जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में गुरुवार (Thursday) को 25 साल में सबसे सबसे ठंडी रात दर्ज की गई. गुरुवार रात को यहां का तापमान माइनस 8.4 डिग्री सेल्सियस नीचे था. एक रिपोर्ट के अनुसार मौसम विभाग ने कहा कि "इससे पहले हमारे रिकॉर्ड के अनुसार इतना की न्यूनतम तापमान [-8.3°C] 1995 में दर्ज किया गया था." पीटीआई के अनुसार मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि 1991 में तापमान शून्य से माइनस 11.3 डिग्री सेल्सियस नीचे तक चला गया था.

श्रीनगर में अब तक का सबसे कम तापमान 1893 में माइनस 14.4 डिग्री सेल्सियस कम था. श्रीनगर में मंगलवार को माइनस 7.8 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जो जम्मू और कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी में सबसे सर्द रातों में से एक था. कहा गया है कि पिछली बार 14 जनवरी 2012 को (तापमान माइनस 7.8 डिग्री सेल्सियस) दर्ज किया गया था. घाटी के बाकी हिस्सों में भी तेज ठंड पड़ रही है, जिसमें डल झील जम गई है. जम्मू में बुधवार को भी सर्द रात थी, जिसका तापमान 5 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया.


गुलमर्ग पर्यटक स्थल में न्यूनतम तापमान माइनस 7 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जो एक रात पहले माइनस 10 डिग्री सेल्सियस अधिक था. कुपवाड़ा का न्यूनतम तापमान माइनस 6.7 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया. आईएमडी के निदेशक ने कहा कि 20 जनवरी तक मौसम शुष्क रहेगा. 27 जनवरी तक बर्फ या बारिश का कोई अनुमान नहीं है. हालांकि हल्की बारिश और बर्फबारी से इंकार नहीं किया जा सकता है.

इस बार देशभर में कड़ाके की ठंड पड़ रही है. राजधानी दिल्ली में आज सुबह घना कोहरा छाए रहने की वजह से विज़िबिलिटी काफी कम हुई. ANI के अनुसार पटना में आज सुबह कोहरा छाया रहा. कोहरे की वजह से विज़िबिलिटी कम हुई. एक व्यक्ति ने बताया, "ठंड बहुत ज़्यादा है जिसकी वजह से बहुत परेशानी हो रही है." मौसम विभाग के अनुसार पटना में आज न्यूनतम तापमान 9 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस रहेगा.

दिल्ली में ठंड और बारिश के बीच किसानों का प्रदर्शन जारी, पढ़िए मौसम विभाग ने क्या कहा ?

First published: 14 January 2021, 15:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी