Home » एन्वायरमेंट » UP Weather forecast: it may be heavy rain, storm and hails storm again in next 48 hours in Uttar Pradesh
 

उत्तर प्रदेश में बारिश-ओलावृष्टि और तेजी आंधी के आसार, अगले 48 घंटों फिर बिगड़े का मौसम

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 May 2020, 11:12 IST

UP Weather Forecast: दिल्ली-एनसीआर (Delhi NCR) समेत उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कई जिलों में रविवार (Sunday) को आई तेज आंधी (Storm) और बारिश (Rain) ने 40 लोगों की जान ले ली. आंधी इतनी तेज थी कि दिन में अंधेरा छा गया और बड़ी संख्या में पेड़ उखड़ गए. बिजली के पोल उकड़ गए. मौसम विभाग का कहना है कि अभी अगले 48 घंटों में उत्तर प्रदेश में तेज आंधी और गरज-चमक के साथ बारिश होने की संभावना है. मौसम निदेशक जेपी गुप्त का कहना है कि अगले दो दिन पूरे प्रदेश में तेज आंधी और गरज-चमक के साथ बारिश होने के आसार हैं.

इसके अलावा तीसरे दिन यानी बुधवार को पश्चिमी यूपी में छिटपुट बारिश होने की संभावना है. उन्होंने कुछ इलाकों में ओले पड़ने की भी संभावना जताई है. गुप्त के मुताबिक, मध्य पाकिस्तान के ऊपर केन्द्रित पश्चिमी विक्षोभ और चक्रवातीय दबाव की वजह से मौसम में लगातार बदलाव देखने को मिल रहा है. बता दें कि रविवार को राजधानी दिल्ली, राजस्थान की राजधानी जयपुर समेत उत्तर प्रदेश के ज्यादातर जिलों में मौसम अचानक से बदल गया.


Solar Eclipse 2020: इस दिन लगेगा सूर्य ग्रहण, जानिए सूतक काल और ग्रहण का समय

पृथ्वी पर एलियन के आने और दूसरे ग्रहों पर जीवन की क्या है सच्चाई? पेंटागन ने जारी किए वीडियो

उसके बाद धूलभरी आंधी चलने लगी और देखते ही देखते चारों ओर अंधेरा छा गया. इस दौरान आंधी, पानी, ओलावृष्टि और वज्रपात ने खूब तबाही मचाई. कई स्थानों पर तेज आंधी में टिनशेड, छप्पर, विद्युत पोल, होर्डिंग, बैनर उड़ गए. वहीं लॉकडाउन के लिए लगाए पुलिस कैंप और तंबू भी तेज हवा से उखड़ गए. इस आंधी-तूफान में फसलों के साथ आम बागवानी को भी काफी नुकसान पहुंचा है. आम की फसल पचास फीसदी तक नष्ट होने का अनुमान है. वहीं मौसम से जुड़े हादसों में 40 लोगों की मौत भी हुई है.

उत्तर प्रदेश में आज फिर आंधी और तेज बारिश की चेतावनी, अलगे एक सप्ताह तक खराब रहेगा मौसम

उत्तर प्रदेश के राहत आयुक्त संजय गोयल ने जिलाधिकारियों से कहा है कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये की आर्थिक सहायता जल्द दी जाए. इसके साथ ही उन्होंने फसलों के नुकसान के बारे में जानकारी मांगी है. लखनऊ के मलिहाबाद फलपट्टी में बीते 10 दिन में तीसरी बार आंधी-बारिश आई है. जिससे अब तक लगभग 50 फीसदी आम की फसल बर्बाद हो चुकी है. बागवानों का कहना है कि अभी आम में गुठली भी नहीं बन पाई है. ऐसे में आंधी से गिरा आम चटनी, गलका आदि में ही प्रयोग किया जा सकता है. वहीं माल, मलिहाबाद और रहीमाबाद में आंधी से कई पेड़ भी गिर गए. इसके अलावा उत्तराखंड में भी रविवार दोपहर बाद तेज आंधी तूफान ने पांच लोगों की जान ले ली. जबकि तीन लोग घायल हुए हैं.

सूरज की रोशनी में आई पांच गुना कमी, नौ हजार साल से जारी है ये सिलसिला, वैज्ञानिक हैरान

First published: 11 May 2020, 11:12 IST
 
अगली कहानी