Home » एन्वायरमेंट » UP Weather Updates: Weather Forecast of Heavy Rain storm in all Uttar Pradesh region
 

उत्तर प्रदेश में आज फिर आंधी और तेज बारिश की चेतावनी, अलगे एक सप्ताह तक खराब रहेगा मौसम

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 April 2020, 12:12 IST

Weather Update for UP: उत्तर प्रदेश (UP) में एक बार फिर मौसम (Weather) करवट बलने वाला है. मौसम विभाग (meteorological department) के मुताबिक, आज यानी गुरुवार (Thursday) से उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में तेजी आधी (Storm) के साथ बारिश (Rain) होने के आसार बन रहे हैं. जिसके आने वाले एक सप्ताह तक ऐसे ही बने रहने की संभावना है. मौसम विभाग के मुताबिक आंधी और बारिश का ये सिलसिला आगामी 7 से 8 मई तक पूरे सूबे में लागू रहेगा. इसी को देखते हुए मौसम विभाग ने आज पूरे प्रदेश में तेज आंधी और गरज-चमक के साथ बारिश होने की चेतावनी जारी की है.

मौसम निदेशक जेपी गुप्त के मुताबिक, मौसम में यह नया बदलाव एक नए पश्चिमी विक्षोभ के विकसित होने के चलते आया है. जो देश के उत्तरी राज्यों की ओर बढ़ रहा है. उन्होंने बताया कि एक हफ्ते के दौरान राज्य के विभिन्न अंचलों में 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलेंगी और रुक-रुक कर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है. इसके अलावा कहीं-कहीं ओलावृष्टि भी होने की संभावना है.


कोरोना वायरस की महामारी के बीच दुनिया पर मंडरा रहा एक और खतरा, वैज्ञानिकों ने दी चेतावनी

इन राज्यों में अगले चार दिन तक भारी बारिश और तूफान की चेतावनी, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

बता दें कि इससे पहले मंगलवार की शाम से बुधवार की सुबह तक उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में हल्की बारिश हुई. सबसे ज्यादा 2-2 सेंटीमीटर बारिश राज्य के पूर्वी जिले बस्ती के हरैय्या, कैसरगंज और शाहजहांपुर में रिकार्ड की गई. इसके अलावा पट्टी, मनकापुर, कराकट में 1-1 सेंटीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई. कृषि विज्ञानी सीपी श्रीवास्तव ने इसी को देखते हुए, किसानों को सलाह दी है कि बीज बनाने के लिए बोरे में दवाइयां डालकर अनाज को संरक्षित कर लें. साथ ही उन्होंने उपयोग के लिए अनाज का भण्डारण करते समय नमी से बचाकर रखने की भी सलाह दी है.

यूपी में बदल रहा है मौसम का मिजाज, अगले चार दिनों तक बारिश और आंधी की संभावना

इस वक्त चना, मटर, मसूर, राई,सरसों की फसल का अपने इस्तेमाल के लिए भण्डारण ठीक से करना सही माना जाता है जिससे साल भर के इस्तेमाल के लिए अनाज बचा रहे. इसके अलावा उन्होंने किसानों से कहा कि गेहूं की फसल अपने इस्तेमाल के लिए बचाकर बाकी अन्य उपज को सरकारी क्रय केन्द्रों पर जाकर यथाशीघ्र बेच दें. साथ ही लौकी, तरोई, भिण्डी, चौलाई आदि सब्जियों में सिंचाई मौसम को देखते हुए करने की सलाह दी गई है.

पृथ्वी पर एलियन के आने और दूसरे ग्रहों पर जीवन की क्या है सच्चाई? पेंटागन ने जारी किए वीडियो

Solar Eclipse 2020: इस दिन लगेगा सूर्य ग्रहण, जानिए सूतक काल और ग्रहण का समय

First published: 30 April 2020, 12:12 IST
 
अगली कहानी